समाचार

अब देश के इस राज्य में घर बैठे-बैठे मिलेगी शराब, 5 लीटर तक कर सकते हैं ऑनलाइन ऑर्डर

शराब के शौकीनों के लिए लाइन में घंटे खड़े रहना और पुलिस की लाठी खाना भी उतनी बड़ी बात नहीं है जितना कि शराब का ना मिलना

दिल्ली में शराब की दुकान खुलते ही जबरदस्त भीड़ देखने को नजर आई जिसने पुलिस के भी होश उड़ा दिए। सिर्फ दिल्ली ही नहीं बल्कि दूसरे राज्यों में भी शराब की दुकान खुलने के बाद से अजब गजब तस्वीरें सामने आ रही हैं। यूपी के प्रयागराज में शराब की दुकान खुलते ही जहां पहले नारियल चढ़ाया गया तो वहीं कर्नाटक में कुछ लोग शराब की दुकान के बाहर नाश्ता ही करने लगे। कई राज्यों में पुलिस को शराब के शौकीनों पर डंडे भी बरसाने पड़े, लेकिन लाइन कम होने का नाम नहीं ले रही। वहीं दिल्ली में भीड़ को नियंत्रित करने के लिए शराब पर स्पेशल टैक्स भी लगाया गया, लेकिन भीड़ कम नहीं हुई। हालांकि देश का एक राज्य ऐसा है जहां शराब की होम डिलवरी शुरु कर दी गई है।

इस राज्य में शुरु हुई ऑनलाइन बिक्री

शराब के शौकीनों के लिए लाइन में घंटे खड़े रहना और पुलिस की लाठी खाना भी उतनी बड़ी बात नहीं है जितना कि शराब का ना मिलना। ऐसे में लाख कोशिशों के बाद भी लोगों की लाइन कम नहीं हो रही। अगर हालात ऐसे रहे तो कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जाएंगे। ऐसे में छत्तीसगढ़ राज्य ने अब शराब की होम डिलीवरी करानी शुरु कर दी है। इसमें आप पांच लीटर तक शराब की होम डिलवरी करवा सकते हैं। बस इसके लिए आपको एमआरपी से 120 रुपए ज्यादा चुकाने होंगे। जिन्हें शराब में दिलचस्पी है उनके लिए ये बहुत ही मामूली चार्ज है।

दिल्ली के एक युवक ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान उन्हें 100 रुपए की शराब  300 रुपए में मिल रही है। हालांकि दिल्ली सरकार की तरफ से शराब के शौकीनों को होम डिलीवरी का तोहफा नहीं मिला है। इसकी होम डिलीवरी का ऐलान छत्तीसगढ़ सरकार ने किया है। शराब के ठेकों के आगे लगती लंबी लाइन को सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाते देख ये फैसला लिया गया है।

ग्रीन जोन में मिलेगी घर बैठे शराब

बता दें कि छत्तीसगढ़ में लोग अब मोबाइल एप और वेबसाइट के माध्यम से शराब की खरीददारी कर सकते हैं। बता दें कि प्रदेश सरकार ने शराब की होम डिलीवरी की व्यवस्था ग्रीन जोन एरिया में शुरु कर दी है। इसमे एक ग्राहक एक बार में 5 हजार एमएल तक की ऑनलाइन शराब खरीद सकता है। वहीं दिल्ली में बाकी राज्यों क अपेक्षा स्थिति ज्यादा खतरनाक है। ऐसे में शराब की दुकानों में लंबी लाइन कोरोना के खतरे को बढ़ा रही है।

बता दें कि छत्तीसगढ़ के राज्य के उच्च अधिकारियों ने बताया कि राज्य की शराब की दुकानें छत्तीसगढ़ स्टेट मार्केटिंग कॉरपोरेशन द्वारा संचालित की जाती है। लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करे इसके चलते डिलीवरी ब्वॉय के माध्यम से शराब की आपूर्ति की व्यवस्था शुरु की हई है। ये व्यवस्था फिलहाल ग्रीन जोन में शुरु हुई है।

गौरतलब है कि केंद्र के निर्देशानुसान लॉकडाउन के तीसरे फेज के दौरान ग्रीन जोन में शराब की दुकानें खुलने की बात कही गई थी। ऐसे में 4 मई को जब छत्तीसगढ़ में शराब की दुकानों को खोला गया तो वहां जबरदस्त भीड़ उमड़ पड़ी। इस दौरान लोग भीड़ में एक दूसरे से सटे नजर आए। ऐसे में छत्तीसगढ़ में कोरोना फैलने का खतरा ज्यादा बढ़ गया। ऐस में लोगों को कोरोना से बचाने के लिए सरकार ने होम डिलीवरी का फैसला कर लिया। गौरतलब है कि कुछ और राज्य सरकारें भी होम डिलीवरी के फैसले पर विचार कर रही हैं।

Back to top button