रिसर्च का दावा- रोज सुबह की 1 कप चाय आपको भूलने की बीमारी के खतरे से दूर रख सकती है

चाय सेहत के लिए फायदेमंद है या नहीं, आज भी यह एक बहस का विषय है. कुछ लोग चाय को सेहत के लिए सही मानते हैं तो कुछ लोग हानिकारक. मगर हाल ही में एक रिसर्च में जो दावा किया गया है उससे चाय प्रेमियों को सुकून जरूर मिलेगा. दरअसल, रिसर्च में दावा किया गया है कि रोज़ाना सुबह की एक कप चाय आपको भूलने की बीमारी के खतरे से दूर रख सकती है.

चाय पीने से भूलने की बीमारी को कम किया जा सकता है :

रिसर्च के मुताबिक, रोज एक कप चाय पीने से भूलने की बीमारी के खतरे को कम किया जा सकता है. ये उनके लिए और भी ज्यादा फायेदमंद होगा, जो अनुवांशिक रूप से भूलने की बीमारी के शिकार होते हैं.

इस सर्वे को चीन में किया गया है. इस सर्वे में चीन के 957 लोगों ने भाग लिया, जिनकी औसत आयु 55 या उससे अधिक थी. शोध से पता चला कि चाय पीने से मनोभ्रंश (Dementia) और अल्जाइमर रोग (Alzheimer’s disease) के होने के खतरे की संभावना कम होती है. रिसर्च में पाया गया कि जहां नियमित रूप से चाय का सेवन करने वाले बुजुर्गों में Dementia का खतरा 50% कम होता है, वहीं चाय न पीने वालों में Dementia होने का खतरा 86% तक होता है.

बल्कि ब्लैक टी, ऊलौंग टी, ग्रीन टी आदि सभी के अपने अलग फायदे होते हैं :

गौरतलब है कि इस रिसर्च को National University of Singapore (NUS) ने किया है. रिसर्चर्स ने इस शोध से चाय के सेवन में न्यूरोप्रोटेक्टिव की भूमिका का भी पता लगाया है, जो एक विशेष प्रकार की चाय के सेवन तक ही सीमित नहीं है, बल्कि ब्लैक टी, ऊलौंग टी, ग्रीन टी आदि सभी के अपने अलग फायदे होते हैं.

रिसर्च टीम के प्रोफेसर फेंग ली के मुताबिक, इसका प्रयोग भले ही चीनी बुजुर्गों पर किया गया है, मगर इसे अन्य उम्र के लोगों पर लागू किया जा सकेगा. हमारे परिणाम मनोभ्रंश की रोकथाम के लिए काफी कारगर साबित हो सकते हैं.

दुनिया में चाय का सेवन करने वालों की कमी नहीं है. अगर रिसर्च का यह दावा सही साबित होता है, तो चाय सच में मानव के लिए फायदेमंद ही नहींं, बल्कि वरदान साबित हो सकती है.