ब्रेकिंग न्यूज़

अमेरिका में मौत का बढ़ता आंकड़ा देख ट्रंप ने दी चीन को धमकी, चीन ज़िम्मेदार है तो भुगतेगा परिणाम

अमेरिका में 32 हजार से ज्यादा लोगों की मौत, हर दिन बढ़ रहा है मौत का आंकड़ा

कोरोना महामारी से पूरी दुनिया परेशान है और कई देश अपने हजारों नागरिकों को हर दिन खो रहे हैं। चीन, इटली, स्पेन के बाद अमेरिका में भी मरने वालों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। अमेरिका में आए दिन हजारों की संख्या में लोगों की कोरोना से मौत हो रही है। जॉन्स हॉपकिंस यूनिवर्सिटी के आंकड़ों की बात करें तो अभी पिछले 24 घंटे में 1891 लोगों की मौत हो चुकी है और संक्रमित लोगो का आंकड़ा 7 लाख तीस हजार के पार जा पहुंचा है। वहीं अब अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी चीन को धमकी दी है कि अगर ये पाया गया कि कोरोना वैश्विक महामारी को फैलाने के लिए चीन जिम्मेदार है तो फिर वो नतीजे भुगतने को भी तैयार रहें।

अगर गलती की तो अंजाम भुगतना होगा

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने व्हाइट हाउस में पत्रकारों को बताया कि कोरोना वायरस को चीन में शुरु होने से पहले रोका जा सकता था, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। आज ये बीमारी पूरी दुनिया में फैल गई है। ट्रंप ने आगे कहा कि अगर चीन ने जानबूझकर कोरोना फैलाया है या वो किसी भी तरह से इसके लिए जिम्मेदार हैं तो हां उन्हें इसके परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं। हालांकि अगर सिर्फ ये एक गलती थी तो फिर गलती तो किसी से भी हो सकती है। बता दें की कोरोना महामारी की शुरुआत चीन के वुहान से शुरु हो थी जहां हजारों की संख्या में लोग मरे थे। अब तक पूरी दुनिया में 1,57,000 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी हैं।

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि गलती का काबू से बाहर चले जाना या जानबूझकर कुछ किए जाने में फर्क होता है। हालांकि किसी भी स्थिति में उन्हें हमें ये बताना चाहिए थे। मुझे लगता है कि वो जानते थे कि कुछ खराब है और मुझे लगता है कि वो शर्मिंदा हैं। ट्रंप ने चीन से मौत के आंकड़े छिपाने का आरोप भी लगाया। उन्होंने कहा कि चीन में मरने वालों की संख्या हमसे ज्यादा है, हम पहले नंबर पर नहीं है, वो मृतकों की संख्या के लिहाज से हमसे आगे हैं।

चीने ने छिपाए आंकड़े

इससे पहले ही अमेरिकी राष्ट्रपति ने ट्वीट कर दावा किया था कि चीन में कोरोना से मरने वालों की संख्या असल में बताई गई संख्या से भी अधिक है। ट्रंप का मानना है कि चीन ने मरने वालों की संख्या के असल आंकड़े छिपाए हैं और वहां पर अमेरिका से ज्यादा लोगों की मौत हुई। बता दें की चीन के विदेशी मंत्रालय के प्रवक्ता झोआ लिजियान ने कोरोनावायरस को लेकर अमेरिका की इन खबरों को खारिज कर दिया।

ट्रंप ने ये भी कहा कि कोरोना वायरस संकट ने हम सभी को बहुत नुकसान पहुंचाया है। उन्होंने आगे कहा कि हमारी अभी तक दुनिया में सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था थी। चीन तो हमारे पास तक नहीं था। गौरतलब है कि कोरोना के कारण लॉकडाउन की घोषणा कई देशों में की गई है। इसके चलते देश की अर्थव्यव्स्था पर भी इसका गहरा असर पड़ा है। ऐसे मेें अमेरिका भी धीरे धीरे स्थिति को नियंत्रित करते हुए लॉकडाउन खोलने के बारे में सोच रहा है। अगर स्थिति संभल जाती है तो उम्मीद है की अमेरिका में कुछ फैक्ट्रियां खोली जाएंगी।

Show More

Related Articles

Back to top button