राजनीति

पीएम मोदी ने 30 अप्रैल के बदले 3 मई तक बढ़ाया लॉकडाउन, जानिये इस की असली वजह

जानये नरेंद्र मोदी जी का ३ मई वाला गणित वर्ना लॉक डाउन 30 अप्रैल तक ही बढ़ता

कोरोना संकट को देखते हुए 14 अप्रैल तक लाकडाउन की घोषणा की गई थी। अब पीएम मोदी ने एक बार फिर लॉकडाउन को 3 मई तक बढ़ाने की घोषणा कर दी है। पीएम मोदी ने देश में लॉकडाउन की घोषणा 14 अप्रैल को की, लेकिन कई राज्यों ने बहुत पहले ही 30 अप्रैल तक अपने राज्यों में लॉकडाउन को लागू कर दिया था। ऐसे में लोगों को उम्मीद थी की पीएम मोदी भी 30 अप्रैल तक ही संपूर्ण लॉकडाउन की घोषणा कर सकते हैं। हालांकि पीएम मोदी ने ये तारीख 3 मई तक बढ़ा दी। ऐसे में सबके मन में ये ही सवाल है की लॉकडाउन को 30 अप्रैल की जगह 3 मई तक क्यों बढ़ाय़ा गया है।

इस वजह से 3 मई तक बढ़ा है लॉकडाउन

आपके सवाल का जवाब ये है कि 1 मई को सार्वजनिक अवकाश है। उसके बाद 2 मई को शनिवार और 3 मई को रविवार। ऐसे में पूरी गणना के बाद पीएम मोदी ने 30 अप्रैल नहीं बल्कि 3 मई के लिए लॉकडाउन को बढ़ा दिया। बता दें की राज्य सरकारों ने केंद्र सरकार से 30 अप्रैल तक लॉकडाउन बढ़ाने की अपील की थी, लेकिन केंद्र सरकार ने छुट्टियों को देखते हुए इसे 3 मई तक बढ़ा दिया। 1 मई को विश्व मजदूर दिवस की छुट्टी है, उसके बाद 2 मई शनिवार और 3 मई रविवार को वीकेंड की छुट्टी

अगर 30 अप्रैल के बाद स्थिति नियंत्रित हो जाती है और लॉकडाउन खुलने के आदेश आ जाता तो छुट्टियों के दिन ज्यादा से ज्यादा लोग घर से बाहर निकलने लगते। ऐसे में छुट्टियां तो रहेंगी साथ ही लॉकडाउन भी 3 मई तक रहेगा जिससे सभी लोग अपने घरों में रहे और सोशल डिस्टेंसिंग का नियम माने। बता दें की केंद्र सरकार के इस फैसले से पहले कई राज्यों ने 30 अप्रैल तक लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा कर दी थी।

इस कदम को सबसे पहले ओडिशा ने उठाया था जहां 30 अप्रैल तक लॉकडाउन बढ़ाया गया था। इसके बाद पंजाब ने 1 मई, तेलंगाना ने 30 अप्रैल तक, राजस्थान ने 30 अप्रैल, पश्चिम बंगाल और तमिलनाडु ने भी 30 अप्रैल तक लॉकडाउन को बढ़ाया था। साथ ही अरुणाचल प्रदेश, मिजोरम और मेघालय में भी लॉकडाउन एक दिन पहले ही बढ़ गया था।

क्यों बढ़ाया गया है लॉकडाउन

देश को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि लॉकडाउन से ही देश की स्थिति को सुधारा जा सकता है। ऐसे में 3 मई तक के लिए इस लॉकडाउन को बढ़ाय़ा जा रहा है। सभी के सुझाव और अपील को मद्देनजर रखते हुए लॉकडाउन को और 19 दिनों तक के लिए बढ़ाया जाएगा। साथ ही उन्होंने कहा कि जो लोग रोज की कमाई से अपनी जरुरते पूरी करते हैं, वो मेरा परिवार हैं।मेरी सर्वोच्च प्राथमिकताओं में एक है, इनके जीवन में आई मुश्किल को कम करना। ऐसे में 20 अप्रैल के बाद से इन विशेष लोगों को कुछ खास छूट दी जाएगी जिससे इनकी मदद हो सकीं।

हालांकि पीएम ने ये चेतावनी भी दी है कि अगर ल़ॉकडाउन का पालन सख्ती से नहीं किया गया तो दी गई छूट भी वापस ले ली जाएगी। पीएम मोदी ने कहा कि  दूसरे देशों की अपेक्षा भारत ने शुरुआत में इस बीमारी से बचने के प्रयास जारी कर दिए थे। अब लॉकडाउन का पालन करें और दूसरों को भी इसका पालन करने को कहे। हमें एक साथ मिलकर इस कोरोना को हराना है।

Show More

Related Articles

Back to top button
Close