ब्रेकिंग न्यूज़

गजब का जज्बा! कोरोना संक्रमण से ठीक हुई केरल की नर्स ने फिर से काम पर लौटने की जताई इच्छा

देश में कोरोना की स्थिति दूसरे देशों से बेहतर है, लेकिन मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं। हमारे देश के डॉक्टर और नर्स भी लगातार मेहनत करते हुए देश की स्थिति को संभाले हुए हैं। हाल ही में कोरोना वायरस से संक्रमित सबसे उम्रदराज व्यक्ति का इलाज करने वाली नर्स रेशमा खुद भी कोरोना से संक्रमित हो गईं। इसके बाद भी वो ठीक होकर फिर से पृथक वार्ड में ड्यूटी पर जाना चाहती हैं। पिछले हफ्ते ही उनका रिजल्ट निगेटिव आया और मेडिकल कॉलेज से अब उन्हें छुट्टी दे दी गईं। अब वो घर पर 14 दिनों के लिए क्वेरेंटाइन में रहेंगी।

कोरोना मरीजों के करीब रहती थीं रेशमा

बता दें की देश के सबसे बुजुर्ग संक्रमित व्यक्ति 93 वर्ष के थॉमस अब्राहम और उनकी पत्नी 88 वर्ष की मरियम्मा को भी ठीक हो जाने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। इन दोनों के इलाज में नर्स  रेशमा मोहनदास शामिल थी जिन्हें कोरोना ने अपना शिकार बना लिया। उनमें संक्रमण की पुष्टि हो जाने के बाद अस्पताल में इलाज चला  जिससे वो ठीक हो सकें। अब पूरी तरह से ठीक होने के बाद वो एक बार फिर अस्पताल में जाकर कोरोना के मरीजों के इलाज में मदद करना चाहती हैं।

थॉमस अब्राहम का ठीक होना अपने आप एक बड़ा चमत्कार माना जा रहा है। वो भी अपनी पत्नी के साथ घर पर रवाना हो चुके हैं और रेशमा भी घर गईं ताकी  2 हफ्ते बाद वो फिर से अस्पताल वापस आकर लोगों की मदद कर सकें। अस्पताल के वार्ड में इलाज के दौरान उन्होंने अपने दोस्तों और साथियों के व्हाट्सएप ग्रुप पर एक पोस्ट किया था। उन्होंनें कोरोना के संबंध में लिखा था की मैं एक हफ्ते तुमसे लड़कर फिर ये कमरा छोड़ दूंगी। रेशमा ने कहा की मैंने ये मैसेज इसलिए पोस्ट किया था क्योंकि मुझे केरल की स्वास्थ प्रणाली पर पूरा यकीन है।

फिर से काम पर लौटने की जताई इच्छा

नर्स रेशमा ने बताया की उन्हें कोराना संक्रमण इसलिए हुआ क्योंकि वो शॉमस और मरियम्मा के काफी करीब रहती थीं और दोनों से बातें भी करती रहती थी। वो दोनों ही मास्क नहीं पहना करते थे क्योंकि उसमें उन्हें बहुत तकलीफ होती थी। रेशमा ने कहा की वो उनका ख्याल रखना पसंद करती थी। रेशमा ने कहा की मुझे बुजुर्गों की देखभाल करना अच्छा लगता है और मुझे इस बात की कभी परेशानी नहीं हुई की मुझे ये बीमारी हो गई। उन्होंने इच्छा जताई है की जब वो घर से लौटेंगी तो फिर से कोरोना मरीजों का इलाज करना चाहेंगी। केरल की स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा ने भी नर्स रेशमा के ठीक होने पर खुशी जताई।

डॉक्टरों और नर्सों के इसी जज्बे को सलाम करने के लिए पीएम मोदी ने जनता कर्फ्यू के दिन लोगों से ताली और थाली बजाने की अपील की थी। हमारे देश के डॉक्टर और नर्स इसी कोशिश में लगे हुए हैं की ज्यादा से ज्यादा लोगों की जान बचा सकें। उनके इस जज्बे को देश भर में ही नहीं दुनिया भर में सराहा जा रहा है।

Show More
Back to top button