जब 231 यात्रियों से भरे एयर इंडिया के विमान को हंगरी में फाइटर जेट्स ने घेरा!

भारतीय विमानन कंपनियों को यूरोपियन आकाश में कॉन्‍टैक्‍ट खोने की समस्‍या से दो-चार होना पड़ रहा है. लंदन की उड़ान पर जा रहा एयर इंडिया का एक यात्री विमान जब हंगरी के ऊपर उड़ रहा था तब अचानक ही उसका संपर्क रडार से टूट गया जिससे थोड़ी देर के लिए लोगों के मन में डर व्‍याप्‍त हो गया. उस वक्त विमान यूरोपीय देश हंगरी के एयरस्पेस में उड़ रहा था.

विमान में 231 यात्री और चालक दल के 18 सदस्यों सहित 249 लोग थे. बाद में एटीसी से संपर्क स्थापित हो गया. विमान तय समय पर सुबह 11.00 बजे लंदन के हीथ्रो एयरपोर्ट पर सुरक्षित उतरा. बाद में विमान को लड़ाकू विमानों द्वारा एस्‍कॉर्ट करना पड़ा. एयर इंडिया के प्रवक्‍ता ने बताया, ‘एयर इंडिया की फ्लाइट एआई-171 का फ्रिक्‍वेंसी में उतार-चढ़ाव की वजह से एयर ट्रैफिक कंट्रोल से संपर्क टूट गया.’ हंगरी के लड़ाकू विमान ने इसके बाद इसे एस्‍कॉर्ट किया.

एयर इंडिया के अधिकारी ने बताया, ”हमारे फ्लाइट सेफ्टी के मुखिया जांच कर रहे हैं कि कैसे प्‍लेन 45 मिनट से एक घंटे तक संपर्क गंवा देते हैं. जांच पूरी होने तक पायलट ड्यूटी से दूर रहेंगे.”बता दें कि लंबे समय तक संपर्क टूटने की अवधि के दौरान विमान 600-800 किलोमीटर की दूरी तय कर लेते हैं. यह लंबी दूरी होती है और कई बार तो इस दूरी में विमान एक देश से दूसरे देश के आकाश में प्रवेश कर जाते हैं.

एक महीने के अंदर दूसरी बार किसी भारतीय विमान का संपर्क विदेशी धरती पर एटीसी से टूटा है. हाल ही में जेट एयरवेज के एक विमान का जर्मनी के हवाई क्षेत्र में एयर ट्रैफिक कंट्रोल (एटीसी) से संपर्क टूटने के बाद हड़कंप मच गया था. जिसके बाद इस विमान को भी लंदन के हीथ्रो एयरपोर्ट पर लैंड कराया गया था.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

error: Content is protected !!