ब्रेकिंग न्यूज़

OMG : वीरेंद्र सहवाग ने कर दी घोषणा, आज रिटायर हो रहा है ‘विराट’!

नई दिल्ली – भारत के मजाकिया क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग जो अपने से ट्वीट सोशल मीडिया पर छाये रहते हैं, उन्होंने एक बार फिर अपने ट्वीट से सोशल मीडिया पर धमाल मचा दिया है। कुछ समय से सहवाग टि्वटर पर जब भी कुछ लिखते हैं छा जाते हैं। हाल ही में गुरमेहर कौर विवाद के बाद सहवाग ने एक ट्वीट किया था जो अभी भी टॉप ट्रेंड में चल रहा है। दरअसल, वायरल हो रहे इस ट्वीट में सहवाग ने ‘विराट’ के रिटायर होने की घोषणा कि है। सहवाग ने ट्वीट में लिखा है कि – विराट रिटायर हो रहे हैं। Cricketer virender sehwag tweets.

नौसेना की शान INS विराट आज होगा रिटायर –

 Cricketer virender sehwag tweets

अगर आप भी हमारी तरह ये पढ़कर चौक गये हैं कि भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली रिटायर हो रहे हैं, तो हम आपको बता दें कि सहवाग ने यह ट्वीट भारतीय नेवी के जहाज ‘आईएनएस विराट’ के बारे में किया है। दरअसल, भारतीय नेवी का आईएनएस विराट सोमवार को 30 साल की सेवा देने के बाद रिटायर हो रहा है।

 Cricketer virender sehwag tweets

विमान वाहक पोत INS विराट ने 30 साल तक भारतीय नौसेना की सेवा की और आज यह रिटायर हो जाएगा। विराट दुनिया का इकलौता युद्धपोत है, जिसने 57 साल तक समुद्र में रहकर सेवा दी है। इसके सेना से अलग होते ही इसका नाम गिनिज वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में दर्ज हो जाएगा। विराट पर करीब 1200 अधिकारी और नौसैनिक विराट पर हमेशा तैनात रहते हैं।

नौसेना की सबसे बड़ी ताकत था ‘विराट’ –

Cricketer virender sehwag tweets

इस युद्धपोत पर वर्ष 1944 में काम शुरू हुआ था जब दूसरा विश्व युद्ध चल रहा था। भारत आने से पहले इस युद्धपोत ने 27 सालों तक ब्रिटिश नौसेना की सेवा की थी। विराट को ब्रिटिश नेवी में 18 नवंबर, 1959 को एचएमएस हरमेस के रुप में शामिल किया गया था। विराट को 1987 में भारतीय नौसेना में शामिल किया गया तथा इसे ‘ग्रेट ओल्ड लेडी’ के नाम से भी जाना जाता है।

 Cricketer virender sehwag tweets

भारतीय नौसेना में इसे 12 मई 1987 में शामिल कर लिया गया और ‘विराट’ नाम दिया गया। 12 मई 1987 का वजन 24 हजार टन और लंबाई 743 फुट व चौड़ाई 160 फुट है। विराट ने 2,252 दिन तक देश की सेवा कि जिस दौरान इसने करीब 10, 94,215 किलोमीटर का सफर समुद्र में तय किया है। एक अनुमान के मुताबिक इतने समय में दुनिया का 27 बार चक्कर लगाया जा सकता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close