नहीं रहे उल्टा चश्मा पहनने वाले कलमकार तारक मेहता, प्रधानमंत्री ने जताया शोक!

मार्च के पहले दिन की शुरुआत हुयी और सुबह ही एक बड़े कलमकार के चले जाने की खबर आई. उल्टा दिखने वाला चश्मा पहनने वाले मशहूर हास्य लेखक तारक मेहता नहीं रहे. बीते कुछ महीनों से बीमार चल रहे तारक मेहता का 87 साल कि उम्र में अहमदाबाद में इलाज के दौरान निधन हो गया. तारक मेहता कि पहचान उनके हास्य लेखन कि वजह से है. वो पूरे जीवन अपने पाठकों और दर्शकों को गुदगुदाते रहे.

टीवी चैनल सब पर उनका कार्यक्रम तारक मेहता का उल्टा चश्मा बेहद लोकप्रिय रहा है. कार्यक्रम के किरदारों ने दर्शकों के बीच अपनी जगह बनाई है, लोग कार्यक्रम के समय पर टीवी चालू करना नहीं भूलते. तारक मेहता को सबसे ज्यादा लोकप्रियता उनके कॉलम ‘दुनिया ने औंधों चश्‍मा’ के कारण मिली, उनका यह कॉलम एक गुजराती मैगज़ीन में छपता था. गुजराती भाषा में लिखे उनके 6 नाटकों ने भी खूब सराहना और लोकप्रियता हासिल की है.

तारक मेहता को साल 2015 में पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित किया गया था. उनका निधन मनोरंजन और हास्य लेखन कि दुनिया के लिए भरी क्षति है. उनकी लिखी हुयी 80 किताबे बाजार में उपलब्ध हैं. वो हमेशा अपने पाठकों और दर्शकों को हँसाने के प्रयत्नशील रहते थे.

तारक मेहता के निधन पर प्रधानमन्त्री समेत कई बड़ी हस्तियों ने दुःख व्यक्त किया-

पीएम मोदी ने ट्वीट करके अपना दुःख अभिव्यक्त किया उन्होंने कहा ‘सुप्रसिद्ध नाटककार और हास्‍य लेखक तारक मेहता जी को श्रद्धांजलि. उन्‍होंने जीवन भर व्‍यंग्‍य और कलम का साथ नहीं छोड़ा’

प्रधानमंत्री ने कहा-

प्रधानमंत्री के अलावा बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और गुजरात के सीएम विजय रुपानी ने भी ट्वीट करके जताया दुःख-

बॉलीवुड अभिनेता परेश रावल ने भी जताया शोक-

Leave a Reply

Your email address will not be published.