दिलचस्प

ब‌िना सोए हुए भी तब आप तरोताजा महसूस करेंगे

benefits of yoga for sleep

 

अगर आप बिल्कुल ठीक हैं और रोजाना तीन से चार घंटे रोज सोते हैं तो यह ठीक है। कुछ मायनों में यह एक उत्तम स्थिति है। कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो अपनी मानसिक परिस्थितियों के कारण ठीक से सो नहीं पाते। अपनी कोशिकीय वजहों अथवा जेनेटिक यानी वंशानुगत तकलीफों के कारण नहीं सो पाते। मगर ऐसे लोग बहुत थोड़े है। योग साधन करते समय नींद आश्चर्यजनक ढंग से कम हो जाती है। उस साधन के समय शीर्ष ग्रंथि से जो स्राव होता है, उसे आमतौर पर अमृत या सुधा कहते हैं। अगर यह स्राव बढ़ जाए और अमृत बहने लगे तो सबसे पहले नींद कम होती है। योग का एक आयाम भी होता है कि नींद को कैसे घटाया जाए, क्योंकि नींद का मायने जिंदगी से पलायन भी है।

अधिक जानें अगले पेज पर :

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close