दिल्ली के द्वारका में पीएम मोदी ने किया रावण दहन, देशवासियों को दिया ये खास संदेश

बीते मंगलवार को पूरे देश में दशहरा धूमधाम से मनाया गया। इस दौरान जगह जगह रावण दहन किया गया। इसी सिलसिले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी दिल्ली के द्वारका में रावण दहन किया। पीएम मोदी ने न सिर्फ रावण का दहन किया, बल्कि इस दौरान देशवासियों को संदेश भी दिया, जिसका पालन करके आप अपना जीवन सुफल बना सकते हैं। जी हां, पीएम मोदी ने देश की राजधानी दिल्ली के द्वारका में चल रहे रामलीला में पहुंचे, जिस दौरान उन्होंने रावण दहन किया। इतना ही नहीं, इस दौरान एक बार फिर से उन्होंने देशवासियों को गुरुमंत्र दिया।

उत्सव हमें जोड़ते हैं- पीएम मोदी

दशहरा के शुभ मौके पर पीएम मोदी ने देशवासियों को संदेश देते हुए कहा कि उत्सव हमें एक दूसरे से जोड़ते हैं। इस दौरान उन्होंने कहा कि हमारे देश में शायद ही कोई ऐसा दिन होता हो, जब कोई उत्सव न हो, क्योंकि हमारी संस्कृति में ही उत्सव है, जिसने हमेशा हमें एक दूसरे के करीब लाने का काम किया है। इतना ही नहीं, पीएम मोदी ने उत्सव को लेकर देशवासियों को ढेर सारे संदेश भी दिए, जिसे सोशल मीडिया पर खूब पसंद किया गया।

बेटियों का करें सम्मान- पीएम मोदी

पीएम मोदी हमेशा देश की बेटियों के लिए कुछ न कुछ स्कीम निकालते ही रहते हैं, ऐसे में एक बार फिर से उन्होंने दशहरा के मौके पर कहा कि इस दिवाली पर हमें अपनी बेटियों का सम्मान करना चाहिए। ऐसे में उन बेटियों के लिए सम्मान समारोह आयोजित करना चाहिए, जो दूसरों के लिए प्रेरणा बन सके। बता दें कि पिछले कुछ दिनों में भारत की ढेर सारी बेटियों ने विश्व पटल पर हिंदुस्तान का नाम रोशन किया है, जोकि दूसरों के लिए अब प्रेरणा बन चुकी हैं।

पीएम मोदी ने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा कि इस साल हम महात्मा गांधी की 150वीं जयंती सेलिब्रेट कर रहे हैं, ऐसे में हर एक आदमी को संकल्प लेना चाहिए कि वह देश की भलाई के लिए ही काम करेगा। साथ ही कोई भी आदमी ऐसा काम नहीं करेगा, जो देश के हित में न हो। मतलब साफ है कि पीएम मोदी दशहरा के दिन लोगों के अंदर छिपी बुराई को मिटाना चाहते हैं, जिसके लिए उन्होंने यह खास संदेश दिया है।

दशहरा के मौके पर रावण दहन के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि ये तो सिर्फ एक पुतला है, लेकिन हम सभी को अपने अंदर को रावण को हमेशा के लिए खत्म कर देना चाहिए, ऐसे में आज उसे जला देने की प्रतिज्ञा लेनी चाहिए। साथ ही उन्होंने कहा कि जब आप अपने अंदर के रावण को खत्म कर देंगे, तभी सही मायने में हम ये त्यौहार सेलिब्रेट कर पाएंगे।  ऐसे में आओ प्रतिज्ञा लें कि हम रावण को अपने अंदर से खत्म कर देंगे और महिलाओं का सम्मान करेंगे। इस दौरान प्लास्टिक मुक्त का भी ज़िक्र किया गया।