बॉलीवुड

लीवर फ़ैल होने की वजह से दुनियां को अलविदा कह गया साउथ का ये फेमस हीरो, ग़म में फेन्स

प्रकृति का एक कड़ा नियम हैं. इस दुनियां में जो आता हैं उसे एक ना एक दिन जाना ही होता हैं. हालाँकि यदि आप बुढ़ापा आने के बाद ये संसार छोड़ते हैं तो इतना दुःख नहीं होता हैं. ये दिन सभी को देखना पड़ता हैं. हालाँकि उम्र से पहले ही यदि किसी की जान पर बन आए तो दुःख जरूर होता हैं. खासकर वो व्यक्ति जिसे आप कई अरसे से देखते आ रहे हैं. दरअसल टोलीवुड फिल्मों के मशहूर कॉमेडियन वेनु माधव (Venu Madhav) की हेल्थ कंडीशन कुछ समय से बहुत ही नाजुक बनी हुई थी. माधव पिछले दो सप्ताह से हॉस्पिटल में एडमिट थे. इसके बाद 22 सितंबर यानी रविवार के दिन उन्हें दिसचार्ज कर दिया गया था. हालाँकि बिगड़ती तबियत के चलते 24 सितम्बर को उन्हें दोबारा सिकुंदाराबाद के कॉर्पोरेट हॉस्पिटल में लाया गया था. इसके बाद बीते बुधवार ही उनका 51 वर्ष ई उम्र में देहांत हो गया.

बात ये हैं कि माधव को पिछले एक साल से लीवर और किडनी में समस्यां हो रही थी. इस बावत हाल ही में वे अस्पताल में 2 हफ्ते के लिए भर्ती भी थे. तब डॉक्टर ने उन्हें बताया था कि आपको लीवर ट्रांसप्लांट की जरूरत हैं. ये सलाह देने के बाद उन्हें हॉस्पिटल से छुट्टी दे दी गई थी. फिर दो दिन बाद उनकी तबियत और ज्यादा बिगड़ जाने की वजह से उन्हें वापस हॉस्पिटल लाया गया. फिलहाल माधव अस्पताल में जिंदगी की जंग लड़ रहे हैं. डॉक्टरों के मुताबीक उनकी हालत बहुत नाज़ुक बनी हुई हैं. ताजा ख़बरों के मुताबिक माधव को हॉस्पिटल में आईसीयू (Intensive Care Unit) में शिफ्ट किया गया था, जहाँ उन्हें बाद में लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रख दिया गया था.

माधव के फैंस उनके अच्छे स्वस्थ की कामना भी कर रहे थे. हालाँकि बहुत देर हो चुकी थी और वो जिंदगी की जंग हार गए. अपनी लीवर और किडनी से जुड़ी हेल्थ कंडीशन की वजह से माधव पिछले काफी समय से किसी फिल्म का हिस्सा भी नहीं रहे हैं. 51 साल के हास्य कलाकार वेणु माधव का जन्म सूर्यापत जिले के कोडड़ (Kodad) में हुआ था. पिछले साल दिसंबर में उन्होंने चुनावों में खड़े होने की भी दिलचस्पी दिखाई थी. इसके लिए उन्होंने कोडड़ विधानसभा क्षेत्र से नोमिनेशन का फ़ार्म भी भरा था.

बताते चले कि माधव का फ़िल्मी करियर काफी अच्छा रहा हैं. अपने अभिनय से उन्होंने कई लोगो को हंसाया हैं. वे लगभग 170 तेलगु फिल्मों में काम कर चुके हैं. इसके साथ ही उन्होंने कुछ तमिल फिल्मों में भी काम किया हैं. उन्होंने अपने फ़िल्मी करियर की शुरुआत साल 1996 में आई फिल्म Sampradayam से की थी. उन्हें अंतिम बार बड़े पर्दे पर साल 2016 में Dr Paramanandaiah’s Students Gang नामक फिल्म में देखा गया था. ये उनकी आखरी फिल्म थी. इसके बाद स्वास्थ कारणों के चलते उन्होंने कोई नई फिल्म साइन नहीं की थी.

माधव के निधन की खबर से उनके परिवार और फैंस के बीच शौक की लहर दौड़ पड़ी. तेलगु फिल्म इंडस्ट्री के लोगो ने उनकी आत्मा की शान्ति की प्रार्थना की. उनके परिवार में एक पत्नी और दो बेटे भी हैं. बताते चले कि उन्हें मूल रूप से लीवर ट्रांसप्लांट की जरूरत थी. अर्थात उनके शरीर में किसी और का लीवर सर्जरी के माध्यम से लगाया जाता, हालाँकि समस्यां ये हैं कि लीवर ट्रांसप्लांट के लिए किसी मैचिंग डोनल का मिलना बहुत मुश्किल होता हैं. ऐसे में मरीज को लम्बा इंतज़ार करना पड़ सकता हैं. अफ़सोस की माधव के केस में ऐसा ना हो सका.

Show More

Related Articles

Back to top button