चुनाव आयोग ने दिया केजरीवाल के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने का आदेश!

अरविन्द केजरीवाल की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं, चुनाव आयोग ने उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने का आदेश दिया है, और पोल अथॉरिटी को 31 जनवरी तक मामले की स्टेटस रिपोर्ट देने का निर्देश दिया है. दरअसल आज कल अरविन्द केजरीवाल गोवा में चुनाव प्रचार में लगे हुये हैं. और अपने बडबोलेपन की वजह से आये दिन चर्चा में रहते हैं.

चुनाव आयोग ने पहले भी चेतावनी दी थी :

बीते दिनों चुनाव आयोग ने उन्हें चेतावनी दी थी कि वो बोलते वक्त अपनी भाषा पर संयम रखें और ऐसे बयान ना दें जिससे रिश्वत लेकर वोट देने की प्रथा को बढ़ावा मिलता है, लेकिन अरविन्द केजरीवाल ने इसे साख का मुद्दा बना लिया और चुनाव आयोग की चेतावनी का जवाब देते हुये उन्होंने आयोग को पत्र लिखा, केजरीवाल ने पत्र में लिखा कि उनके बयान से चुनाव में भ्रष्टाचार रुकेगा और उन्हें यह बात बोलने की इजाजत दी जाये.

केजरीवाल ने गोवा में चुनाव प्रचार के दौरान 8 जनवरी 2017 को एक रैली में कहा था कि बीजेपी और कांग्रेस वाले पैसा देने आयें तो उन्हें मना मत करना उनसे पैसा ले लेना और उनसे और अधिक पैसे की मांग करना लेकिन वोट आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार को ही देना.

चुनाव आयोग ने इस बयान को मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट का उल्लंघन मानते हुये केजरीवाल को नोटिस भेजा था, जिसके जवाब में उन्होंने खुद को सही बताते हुये ऐसे बयान देने की इजाजत मांगी है. केजरीवाल ने चुनाव आयुक्त नसीम जैदी को पत्र लिखकर कहा था कि उनके बयान पर रोक लगाकर चुनाव आयोग भ्रष्टाचार को बढ़ावा दे रहा है.

चुनाव आयोग ने केजरीवाल के इस पत्र को अपमानजनक माना है और केजरीवाल के खिलाफ जन प्रतिनिधित्व कानून और भारतीय दंड संहिता की कई धाराओं में मुकदमा दर्ज करने का निर्देश दिया है.

गौरतलब है कि चुनाव आयोग ने केजरीवाल के खिलाफ पहले भी नोटिस जारी किया था और कहा था कि अगर वो नहीं सुधरे तो आम आदमी पार्टी की मान्यता रद्द कर दी जायेगी. इस नोटिस के बाद केजरीवाल के जवाब पर चुनाव आयोग को यह फैसला लेना पड़ा और उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज करने का निर्देश दिया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.