विशेष

नाइजीरियन एयरफोर्स ने अपने ही नागरिकों पर गिराए बम, 100 की मौत

नाइजीरिया की वायुसेना की गलती वहां के नागरिकों के लिए जानलेवा बन गई. मंगलवार को नाइजीरियन वायुसेना ने गलती से एक शरणार्थी शिविर पर बम गिराया जिसमें आम नागरिकों की जान चली गई. मिली जानकारी के अनुसार हमले में 100 से अधिक शरणार्थी मारे गए और कई लोग घायल हो गए.

nigerian jet mistakenly bombs displaced

यह हमला आतंकी गुट बोको हरम पर किया जाना था :

नाइजीरियन मिलिट्री का कहना है कि यह हमला आतंकी गुट बोको हरम पर किया जाना था. मिलिट्री कमांडर मेजर जनरल लकी इराबोर ने बताया कि बम कैमरून के बॉर्डर से लगे रान टाउन में गिराए गए. इसमें कई सिविलियन मारे गए हैं, मरने वालों में राहतकर्मी भी शामिल. घायलों की मदद के लिए हैलिकॉप्टर से घायलों को हॉस्पिटल पहुंचाया जा रहा है.

बोको हराम देश से मौजूद सरकार का तख्तापलट करना चाहता है और नाइजीरिया को एक इस्लामिक देश में तब्दील करना चाहता है. बोको हराम का आधिकारिक नाम जमाते एहली सुन्ना लिदवति वल जिहाद है. मुस्लिम धर्मगुरू मोहम्मद युसूफ ने 2002 में बोको हराम का गठन किया था. उन्होंने एक धार्मिक कॉम्पलेक्स बनाया जिसमें एक मस्जिद और इस्लामी स्कूल भी बनाया गया.

नाइजीरिया में इस संगठन ने अपने पैर पसार लिए हैं. आए दिन नाइजीरियन सेना और आतंकियों के बीच भिड़ंत की खबर आती रहती है. नाइजीरिया के राष्ट्रपति मोहम्मद बुखारी ने घटना पर दुख जताया है और लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है.

Related Articles

Close