हिन्दी समाचार, News in Hindi, हिंदी न्यूज़, ताजा समाचार, राशिफल

यूपी चुनाव को लेकर पीके का बड़ा बयान, सोनिया को तगड़ा झटका

2017, वो साल जब देश की सियासत में एक नया मोड़ आएगा। 2017 में ही उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने हैं। ये चुनाव सत्ताधारी समाजवादी पार्टी के लिए तो एसिड टेस्ट हैं ही, लेकिन चुनाव में सबसे ज्यादा टेंशन कांग्रेस को होगी। कांग्रेस जो लगातार हार से पस्त है। उसके लिए यूपी विधानसभा चुनाव जीने-मरने का सवाल हैं। ये खुद कांग्रेस के रणनीतिकार Prashant Kishor का कहना है।

Prashant Kishor

कांग्रेस उत्तर प्रदेश चुनाव को लेकर कितना गंभीर है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उसने Prashant Kishor को रणनीति बनाने का जिम्मा सौंपा है। प्रशांत किशोर इस से पहले बिहार में नीतीश कुमार को जीत दिला चुके हैं। लिहाजा कांग्रेस को उम्मीद है कि पीके वही करिश्मा उत्तर प्रदेश में भी करेंगे। हालांकि बिहार और यूपी के हालात और जेडीयू और कांग्रेस में जमीन आसमान का अंतर है। यही कारण है कि पीके अब खुद मान रहे हैं कि यूपी कांग्रेस के लिए जीने-मरने का सवाल है।

आजमगढ़ और मिर्जापुर के कांग्रेस नेताओं से बात करते हुए Prashant Kishor ने ये बड़ा बयान दिया। उन्होने कहा कि आने वाले डेढ़ महीने कांग्रेस के लिए बेहद अहम हैं। पीके ने कार्यकर्ताओं से कड़ी मेहनत करने को कहा है। इसके अलावा अपनी रणनीति के तहत पीके ने चुनाव लड़ने के इच्छुक नेताओं से बूथ स्तर पर कार्यकर्ताओं के नाम बताने को भी कहा है.

कांग्रेस की पुरानी समस्या गुटबाजी और बयानबाजी से निपटने के लिए भी Prashant Kishor रणनीति बना रहे हैं। उन्होने कहा कि गुटबाजी और बहानेबाजी से पार्टी का भला नहीं होगा। पीके ने कार्यकर्ताओं से अपील की है कि वो मीडिया रिपोर्ट को पढ़ते वक्त अपने पॉलिटिकल सेंस का इस्तेमाल करें। बता दें कि पीके 28 मई तक इस तरह की बैठकों के जरिए कार्यकर्ताओं को रणनीतिक ज्ञान देंगे।

DMCA.com Protection Status