महाभारत के मुताबिक भूलकर भी ना करें ऐसे व्यक्ति से दोस्ती, वरना हो जाएगा आपका जीवन बर्बाद महाभारत के अनुसार किसी को दोस्त बनाने से पहले उसमें जरूर देखें ये गुण

धार्मिक ग्रंथों को पढ़ने से हमे कई सारी चीजों का ज्ञान मिलता है और हमारे ग्रंथों में कई ऐसी बातों का उल्लेख किया गया है जिनका पालन करने से जीवन बेहतर बन जाता है। महाभारत ग्रंथ में हमे दोस्ती से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें बताई गई हैं और इन बातों को ध्यान में रखकर ही इंसान को किसी व्यक्ति से दोस्ती करनी चहिए। महाभारत ग्रंथ के अनुसार दोस्ती करते समय किन किन चीजों पर ध्यान देना चाहिए वो इस प्रकार हैं-

श्लोक

येषां त्रीण्यवदातानि विद्या योनिश्च कर्म च।

ते सेव्यास्तैः समास्या हि शास्त्रेभ्योपि गरीयसी।।

महाभारत में लिखे गए इस श्लोक के जरिए ये बताया गया है कि इंसान की किस तरह के लोगों से मित्रता करने से फायदा पहुंचता है। इस श्लोक अनुसार इंसान को केवल उसी व्यक्ति से मित्रता करनी चाहिए जिनमें नीचे बताए गए तीनों गुण होते हैं-

दोस्ती करने से पहले जरूर याद रखें ये चीजे-

कितना ज्ञानी है

मुनष्य को हमेशा ज्ञानी लोगों से ही दोस्ती करनी चाहिए। क्योंकि ज्ञानी लोगों के साथ रहने से मुनष्य को कई अच्छी चीजे सीखने को मिलती हैं। ज्ञानी दोस्त हमेशा आपको जीवन में सही रास्ता दिखते हैं और शिक्षित लोगों के साथ रहने से आपके जीवन का स्तर भी बढ़ जाता है। वहीं अगर आप किसी मूर्ख और अनपढ़ व्यक्ति से दोस्ती कर लेते हैं तो आपको कुछ नया सीखने को नहीं मिलता है और आप भी उसकी तरह ही मूर्ख बनने लग जाते हैं। इसलिए जब भी आप किसी व्यक्ति से दोस्ती करें तो ये जरूर देख लें की वो व्यक्ति कितना पढ़ा लिखा हुआ है और वो चीजों को कितने अच्छे तरीके से समझता है।

परिवार कैसा है

किसी भी इंसान की परवरिश पर ही ये निर्भर होता है कि वो जीवन में अच्छा व्यक्ति बनेगा की बुरा। परिवार के लोगों द्वारा ही बच्चों को सही गलत की पहचान करना सिखाया जाता है। इसलिए जब भी आप किसी से दोस्ती करें तो ये देख लें की उसके परिवार वाले कैसे हैं। अगर परिवार वाले सच्चे मन के हैं और हमेशा अपने बच्चे को सही सीख देते हैं तो आप तुरंत उनके बच्चे से दोस्ती कर लें।

जिस व्यक्ति से आप दोस्ती कर रहे हैं अगर उसके परिवार वाले पापी हैं और हमेशा गलत चीजों का साथ देते हैं तो आप उससे दोस्ती ना करें। क्योंकि कई बार मनुष्य खुद कितना भी अच्छा क्यों ना हो, लेकिन अपने परिवार की आदतों और कर्मों की वजह से उसको जीवन में परेशानियों का सामान जरूर करना पड़ता है।

आदतें और काम

इंसान भले ही कितना भी बड़ा ज्ञानी क्यों ना हो अगर उसी आदतें खराब हैं तो उससे दूरी बनाने में ही भलाई होती है। गलत इंसान के साथ दोस्ती करने से आप भी उसकी गलत आदतों का शिकार हो जाते हैं और उसकी तरह ही गलत काम करने लग जाते हैं। अगर आप किसी से मिलते हैं और उसके अंदर आपको कई बुरी आदत दिखती है तो  उस व्यक्ति से दोस्ती ना करने में ही आपकी भलाई है। क्योंकि उसकी गलत आदतों का बुरा परिणाम आपको भी झेलना पड़ सकता है।