जंगल में छुपा हुआ था मोस्ट वॉन्टेड अपराधी, महिला पुलिस अधिकारियों ने धर दबोचा

गुजरात एंटी टेररिस्ट स्क्वॉड (एटीएस) की महिला अधिकारियों ने हाल ही में एक मोस्ट वॉन्टेड अपराधी को पकड़ा है जो कि कई समय से फरार था। बताया जा रहा है कि जुसब अल्लारखा नामक ये अपराधी जेल से पेरोल पर बाहर आया था और बाहर आते ही ये फरार हो गया था। फरार होने के बाद जुसब अल्लारखा ने अपराध का दामन नहीं छोड़ा और इनसे कई सारी वारदातों को अंजाम दिया। जुसब अल्लारखा ने काफी लंबे समय से पुलिस की नाक में दम कर रखा था और इसकी तलाश में कई सारे राज्यों की पुलिस लगी थी। लेकिन ये हर बार पुलिस से बचने में कामयाब हो जाता था। लेकिन इस बार जुसब अल्लारखा गुजरात एटीएस की महिला अधिकारियों के हत्थे चढ़ गया और इसे गिरफ्तार करने के बाद जेल भेज दिया गया है।

इस तरह से पकड़ा गया ये अपराधी

बताया जा रहा है कि जुसब अल्लारखा के बोटाद नामक जगह पर आने की जानकारी गुजरात पुलिस को मिली थी। जिसके बाद पुलिस सब इंस्पेक्टर संतोष ओडेडरा, सब इंस्पेक्टर अरुणा गामेती, नितमिका गोहिल और शकुंतला माल ने इस जानकारी के आधार पर इसे पकड़ने का एक प्लान तैयार किया। इस प्लान के तहत ये सभी महिला पुलिस अधिकारी जुसब अल्लारखा के आने से पहले ही  बोटाद पहुंच गई थी और वहां पर इसके आने का इंतजार करने लगी। वहीं जैसे ही ये वहां पहुंचा इन महिला अधिकारियों ने बिना कोई देरी किए इसे पकड़ लिया।

जुसब अल्लारखा को पकड़ने के लिए इन महिला पुलिस अधिकारियों ने खूब सारी फायरिंग भी की। वहीं जुसब अल्लारखा की और से भी इन महिला पुलिस अधिकारियों पर फायरिंग की गई और फायरिंग करके ये भागने लगा। लेकिन जुसब अल्लारखा को इन अधिकारियों ने भागने नहीं दिया और इसे गिरफ्तार कर लिया। जुसब अल्लारखा को गिरफ्तार करने के बाद इसे गुजरात सीआईडी को सौप दिया गया है।

इस तरह से हुआ था पहले ये फरार

जुसब अल्लारखा को पुलिस ने हत्या के एक मामले में पकड़ा था और इस अपराध के लिए ये जेल में सजा काट रहा था। वहीं कुछ समय पहले ये जेल से पेरोल के जरिए बाहर आ गया था और पेरोल खत्म होने पर ये वापस जेल नहीं गया और फरार हो गया। पेरोल से बाहर आने के बाद भी इसने अपराध करना नहीं छोड़ा और इसने एक और हत्या को अंजाम दिया। इतना ही नहीं ये लोगों से फ़िरौती भी मांगने लगा। पुलिस काफी समय से इसको पकड़ने में लगी हुई थी लेकिन हर बार ये भागने में कामयाब हो जाता था। पुलिस के अनुसार जुसब अल्लारखा ने जूनागढ़ और भावनगर में काफी वारदातों के अंजाम दिया है और जब भी पुलिस इसे पकड़े के लिए जाया करती थी तो ये जंगलों में छिप जाता था। पुलिस के मुताबिक इसने अपने पास एक घोड़ा भी रखा था और इस  घोड़े की मदद से ये जंगलों में भाग जाता था।

वहीं हाल में इसके बोटाद आने के जानकारी पुलिस को मिली थी जिसके बाद पुलिस ने इसे पकड़े के लिए एक एक टीम तैयार की थी और इसे पकड़ने की जिम्मेदारी  महिला पुलिस अधिकारी को दी गई थी।