सास की मौत पर खुश हुई बहू, पति को आया गुस्सा, पति ने पत्नी से इस तरह लिया बदला सास की मौत पर खुश होना एक बहू को पड़ा महंगा, पति ने दे दिया बालकनी से धक्का

एक पति ने अपनी पत्नी की हत्या इस वजह से कर दी है क्योंकि उसकी पत्नी अपनी सास के निधन पर खुश हो रही थी। ये घटना महाराष्ट्र के कोल्हापुर की है। बताया जा रहा है कि कोल्हापुर के एक निवासी संदीप लोखंडे की मां काफी समय से बीमार थी और 9 मार्च के दिन उसकी  70 साल की मां मालती लोखंडे का निधन हो गया था। अपनी मां की मौत से संदीप काफी दुखी था। लेकिन संदीप की पत्नी अपनी सास की मौत से खुश थी और उसने अपनी ये खुशी संदीप के सामने जाहिर कर दी। अपनी पत्नी शुभांगी लोखंडे को अपनी मां के निधन पर दुखी ना देख संदीप को उसपर गुस्सा आ गया और उसने 9 मार्च को ही अपनी पत्नी को मार डाला। जिसके चलते एक दिन के अंदर ही इस घर के दो सदस्यों की मौत हो गई। हालांकि शुभांगी की मौत को पहले खुदकुशी के एंगल से देखा जा रहा था, लेकिन बाद में जब पुलिस ने इस मामले की अच्छे से जांच की तब जाकर सबके सामने शुभांगी की मौत का सच आया।

इस तरह से की पत्नी की हत्या

पुलिस के मुताबिक संदीप अपने परिवार के साथ आप्टेनगर उपनगर में रहता है और उसने अपने घर की दूसरी मंजलि से अपनी पत्नी को नीचे फेंक दिया। संदीप की पत्नी अपने घर की बालकनी में खड़ी थी और उसी वक्त संदीप ने इस वारदात को अंजाम दिया। हालांकि शुभांगी के बालकनी से गिरने के बाद इसे खुदकुशी माना जा रहा था और कहा जा रहा था कि शुभांगी अपनी सास की मौत के गम में बालकनी से कूद गई है। शुभांगी की खुदकुशी की खबर अखबारों तक में छप गई थी और यहां के स्थानीय अखबारों में इस खबर को छापते हुए लिखा था कि ‘एक सास की मौत से दुखी होकर उसकी बहू ने की आत्महत्या’। लेकिन पुलिस ने अखबारों में छपी खबर की थ्योरी पर ध्यान नहीं दिया और इस मामले की हर एंगल से जांच की।अपनी जांच के अंत में पुलिस ने पाया की शुभांगी ने खुदकुशी नहीं की है और उसकी हत्या हुई है। वहीं जब पुलिस ने संदीप से पूछताछ की तो उसने अपना गुनाह कबूल लिया।

वजह सुनकर हैरान हुए सभी

संदीप अपनी मां की मौत से काफी दुखी था। संदीप के मुताबिक उसकी पत्नी शुभांगी उसकी मां के निधन से खुश थी और उसको ये चीज पसंद नहीं आई। जिससे उसे गुस्सा आ गया और उसने गुस्से में आकर अपनी पत्नी को अपने घर की बालकानी से धक्का मार दिय और उसकी मौत हो गई। संदीप के गुनाह कबूलने के बाद उसे पुलिस ने हिरासत में ले लिया है और उसपर अपनी पत्नी की हत्या का केस दर्ज कर किया गया है। वहीं संदीप और शुभांगी के दो बच्चे हैं और संदीप के गिरफ्तार होने के बाद इन बच्चों को इनके परिवार के अन्य सदस्य देख रहे हैं। अपने पिता के गुस्से और मां की गलत हरकत की वजह से इन बच्चों का भविष्य खराब हो गया है और छोटी से उम्र में इनके ऊपर से मां बाप का साया हट गया है।