पुलवामा का शहीद बता कर जवान की फ़ोटो की जा रही थी शेयर, जवान बोला- अभी मैं जिंदा हूँ

गुरुवार के बाद पूरा भारत देश गम के सागर में डूबा हुआ है. जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले में देश की सीआरपीएफ सेना के 40 से अधिक जवान मारे गए जबकि 50 से अधिक घायल हो गए. इस घटना को पिछले तीन सालों में भारतीय सेना पर सबसे बड़ा हमला बताया जा रहा है. हर कोई जवानों की मौत को लेकर अपना गुस्सा ज़ाहिर कर रहा है. वहीँ सोशल मीडिया पर भी आम आदमी से लेकर बड़ी बड़ी दिग्गज हस्तियाँ हमले का दुःख जता रही हैं. इस हमले के एक सीआरपीएफ जवान की तस्वीर सोशल मीडिया पर काफी शेयर की जा रही है. तस्वीर में असाम का एक जवान है जिसे पुलवामा में हुई मुठेभेड़ में मृत बता कर श्रद्दांजलि दी जा रही है.

गुरुवार, 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर में हुए अब तक के सबसे बड़े आतंकी हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तानी आतंकी गिरोह जैश-ए- मोहम्मद ने ली है. हमले में लगभग 40 जवान मारे जा चुके हैं जबकि कईं अन्य जिंदगी और मौत की जंग से जूझ रहे हैं. वहीँ असम के मिजिंग बसुमत्री (Mijing Basumatary) को ओएक्र एक तस्वीर व्हाट्सएप पर शेयर की जा रही है. तस्वीर के कैप्शन में लिखा गया है कि, “Mijing Basumatary और उन सभी बहादुरों को, जिन्होंने ड्यूटी करते हुए अपनी जान गंवाई, उन्हें सलाम. शोक में डूबे परिवारों के प्रति संवेदना और घायलों के लिए प्रार्थना। यह कायरतापूर्ण हमला घोर निंदा के लायक है.”

एक न्यूज़ टीम ने जब इस मामले पर जांच की तो उन्हें सचाई कुछ और ही मिली. दरअसल, न्यूज़ टीम ने जब फेसबुक पर ‘Salute to Mijing Basumatary’ कीवर्ड सर्च किया तो उन्हें बहुत से यूजर्स द्वारा उन्हें दी गई श्रद्दांजलि के मेसेज और पोस्ट प्राप्त हुए. परंतु बाद में मिजिंग ने खुद अपने फेसबुक अकाउंट से एक पोस्ट करके जानकारी दी कि वह जिन्दा है और स्वस्थ है लेकिन उनकी तस्वीर को गलत इस्तेमाल किया जा रहा है. मिजिंग ने खुद फेसबुक अकाउंट से अपने जीवित होने की पुष्टि की.


न्यूज़ टीम ने जांच के दौरान गूगल और फेसबुक पर “Mijing Basumatary” को सर्च किया ताकि उनकी तस्वीर असली है या नकली इस बात की पड़ताल की जा सके. हलाकि उन्हें गूगल पर उनकी तस्वीर मिली लेकिन उसमे भी उनके मृत होने की बात कही गई थी. इसके बाद जब उन्होंने फेसबुक पर “Mijing Basumatary” लिख कर सर्च किया तो उन्होंने किसी भी शख्स की सीआरपीएफ में होने की जानकारी नहीं मिली. अंत में जब ‘People Find Thor’ टूल का इस्तेमाल किया और कुछ फिलटर्स लगाए गए तो मालूम हुआ कि उनके नाम की स्पेलिंग ‘Mizing’ है न कि ‘Mijing’. इतना ही नहीं बल्कि अपने इस फेसबुक प्रोफाइल में उन्होंने साफ़ तौर पर लिखा कि वह जिन्दा है और पूरी तरह से स्वस्थ्य है लेकिन उनकी फेक न्यूज़ को वायरल किया जा रहा है.