पुलवामा हमले से पहले आतंकी डार ने दी थी कश्मीरी लड़कों को सलाह, ‘प्यार में मत पड़ना, क्योंकि..’

पुलवामा में आंतकी हमले से जहां एक तरफ पूरा देश गुस्से में हैं, तो वहीं दूसरी तरफ 20 साल के आतंकी का वीडियो तेज़ी से वायरल हो रहा है। जी हां, पुलवामा में आत्मघाती हमला करने से पहले 20 साल के आतंकी डार ने एक वीडियो पोस्ट किया था, जिसमें उसने प्यार न करने की सलाह दी थी। यह वीडियो अब तेज़ी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो में न सिर्फ आतंकी डार की बाते हैं, बल्कि उसके पीछे रखे गये हथियार भी देखने को मिल रहे है। 20 साल का आतंकी डार कश्मीरी लड़कों को सलाह दे रहा है। तो चलिए जानते हैं कि इस आतंकी डार ने क्या कुछ और कहा है।

गुरूवार को फिदायीन हमलावर आदिल अहमद डार ने विस्फोटक से भरी गाड़ी ले जाकर सीआरपीएफ जवानों की बस में टकराई, जिससे बड़ा धमाका हुआ और 40 जवान शहीद हो गये। हमले से पूरा देश सिसक रहा है, क्योंकि कायरो की तरह आतंकियों ने आत्मघाती हमला किया, जिससे पूरे देश में आक्रोश और तनाव का माहौल है। हर कोई पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब देने की अपील कर रहा है और सरकार अपनी तरफ से पूरी तैयारियां करने में जुट गई है।

प्यार में मत पड़ना – आतंकी डार

पुलवामा में आत्मघाती हमला करने से पहले और अपने आखिरी वीडियो में आतंकी डार ने कश्मीरी लड़को को सलाह दी थी कि कभी भी किसी लड़की के प्यार में मत पड़ना। दरअसल, वह इस तरह के बयान से जिहाद छेड़ने की कोशिश कर रहा था। इतना ही नहीं, इस वीडियो को रिकॉर्ड करते हुए आतंकी डार ने कहा था कि जब तक आपके पास यह वीडियो पहुंचेगा तब तक मैं जन्नत की सैर कर रहा हूंगा और यह मेरा कश्मीर के लोगों के लिए आखिरी संदेश है और आओ जैश के संगठन में शामिल हो, ताकि आखिरी लड़ाई लड़ी जा सके।

क्यों दिया प्यार में नहीं पड़ने की सलाह?

दरअसल, आतंकी डार ने यह सलाह इसलिए दी कि अतीत के केस में कई लड़कियों के सहारे सुरक्षा एजेंसियों ने आतंकियों को धर धबोचा था, इसलिए वह नहीं चाहता था कि कोई लड़का किसी लड़की के प्यार में पड़े और फिर उसका अंत भी अतीत के आतंकियों की तरह हो। इसके अलावा इस वीडियो में उसने लड़कियों को बुर्का पहनने की सलाह भी दी है। आपको बता दें कि इस वीडियो में डार के बैकग्राउंड में एके-47, राइफल, दस ग्रेनेड और मैगजीन दिखाई देती हैं और पीछे जैश-ए-मोहम्मद का बैनर भी है।

कौन था आतंकी डार?

2017 में बारहवीं की पढ़ाई छोड़कर एक मिल में काम करने गया डार 19 मार्च को अपने दो दोस्तों के साथ गायब हो गया और उसके बाद उसकी एक तस्वीर सोशल मीडिया पर आती है, जिसमें वह राइफल लिए खड़ा होता है। ऐसे में धीरे धीरे वह आतंकवादी बन गया। पहले डार मजिस्द जाकर नमाज पढ़ता था, लेकिन बाद में आतंकवादी बन गया और उसने वीडियो में यह भी कहा कि इस्लाम के लिए अपनी शहादत का जश्न’ शादियों के जश्न की तरह मनाने की अपील की।

10 दिन पहले पाक से ऐसे धमका रहा था हाफिज सईद