पड़ोसन के प्यार में सौरव गांगुली ने फैमिली से ले ली थी दुश्मनी मोल, घर से भाग गए और फिर…

यूं तो प्यार का इजहार करने के लिए हर दिन खास होता है, लेकिन वैलेंटाइन डे का अपना एक अलग महत्व होता है। वैलेंटाइन डे के दिन प्यार का इजहार करने में एक अलग ही खुशी मिलती है। इसलिए तो हर प्रेमी वैलेंटाइन डे के दिन अपने प्यार का इजहार करना चाहता है। वैलेंटाइन डे अपने प्यार के साथ सेलिब्रेट करना भी एक अलग ही खुशी देता है। वैलेंटाइन डे के दिन हर कोई अपने प्यार को सरप्राइज देता है और उसके साथ वक्त बिताता है। ऐसे में हम आपके लिए भारत के पूर्व क्रिकेटर सौरव गांगुली की लव स्टोरी लेकर आएं हैं। तो चलिए जानते हैं कि हमारे इस लेख में आपके लिए क्या खास है?

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली की दादागिरी क्रिकेट के मैदान पर आपने बहुत देखी होगी। जी हां, एक दशक से ज्यादा क्रिकेट के मैदान में दादागिरी दिखाने वाले सौरव गांगुली प्यार के मामले में कुछ कम नहीं है। सौरव गांगुली की लव स्टोरी किसी फिल्म की कहानी से कम नहीं है। सौरव गांगुली स्कूल के दिनों से ही अपने पड़ोसन को चाहते थे और एक दिन उन्होंने अपने प्यार को जगजाहिर कर दी। प्यार की मंजिल तक पहुंचने के लिए सौरव गांगुली को खूब पापड़ बेलने पड़े।

बचपन की दोस्त को खूब पसंद करते थे सौरव गांगुली

सौरव गांगुली अपनी बचपन की दोस्त डोना गांगुली से प्यार कर बैठे थे। सौरव और डोना एक दूसरे के साथ बचपन से ही वक्त बिताते हैं। डोना की एक झलक पाने के लिए सौरव उनके स्कूल के चक्कर लगाया करते थे। पहले दोनों के परिवारों के बीच रिश्ते भी अच्छे थे, लेकिन बाद में बिजनेस की वजह से वे दोनों सिर्फ एक पड़ोसी मात्र रह गए। परिवार के नफरत की आड़ में दोनों ने अपनी दोस्ती कभी नहीं तोड़ी और अपने प्यार को मंजिल पर पहुंचाने की ठान ली। दोनों की फैमिली इस रिश्ते को स्वीकार नहीं करती। इसलिए इंग्लैंड दौरे के बाद सौरव गांगुली के नाम एक विवाद जुड़ गया था।

अपनी पड़ोसन को लेकर भाग गये थे गांगुली

डोना के प्यार में सौरव गांगुली पूरी तरह से पागल हो गये थे, ऐसे में वे डोना को खोना नहीं चाहते थे। इसलिए उन्होंने डोना को घर से भगाने की सोची और इसके लिए उन्होंने बंगाल के सर्वाधिक सम्मानीय क्रिकेटर मॉलोय मुखर्जी से राय ली और जिसके बाद पूरी योजना बनाई गई। हालांकि, सौरव डोना को घर से भगाने और कोर्ट मैरिज करने में सफल रहे थे, लेकिन मीडिया में यह खबर लीक हो गई थी, जिसकी वजह से उन्होंने घर से भागने के एक दिन बाद कोर्ट मैरिज की थी। बता दें कि सौरव से शादी करके डोना खुश थी, लेकिन सौरव फैमिली को लेकर चिंतित थे।

मिया बीवी राजी तो क्या करेगा काजी

जब सौरव और डोना की शादी की खबर फैमिली वालों को लगी तो सब थोड़े नाराज हुए, लेकिन बाद में सभी मान गये और इसके बाद 21 फरवरी, 1997 में बंगाल रीति रिवाज से दोनों की शादी हुई। हालांकि, जब सौरव के परिवार को पता चला था, तब उन्होंने कहा था कि  ब्रह्माण लड़की से शादी नहीं होने देंगे, लेकिन सौरव और डोना के प्यार के आगे सबको झुकना पड़ा और इस तरह से सौरव गांगुली को अपनी डोना मिली और आज उसके साथ खुशी खुशी लाइफ बिता रहे हैं।