जम्मू/नई दिल्ली – शहीदी दिवस के मौके पर आज रविवार को गृह मंत्री राजनाथ सिंह जम्मू कश्मीर के कठुआ पहुँचे। जहाँ उन्होंने पाकिस्तान पर निशाना साधते हुए कहा कि, ‘पाकिस्तान भी समझ चुका है कि वह भारत को सीधे पराजित नहीं कर सकता भले ही पाकिस्तान ने चार-चार बार हिंदुस्तान पर हमला किया हो, देश के जवानों ने उनके दांत खट्टे कर दिए हैं।’ Rajnath singh in kathua Jammu Kashmir.

राजनाथ सिंह ने कहा, “कभी ना कभी पाकिस्तान हमारा ही अंग था। आज भी हम उसे अलग नहीं मानते हैं हम उनके ऊपर गोली नहीं चलाना चाहते। पाकिस्तान आतंकवाद के सहारे जम्मू और कश्मीर को भारत से अलग करना चाहता है, लेकिन वह यह भुल गया है कि आतंकवाद बहादुरों का नहीं, कायरों का हथियार होता है।”

Rajnath singh in kathua Jammu Kashmir

टुकड़े- टुकड़े हो जाएगा पाकिस्तान –

रैली को संबोधित करते हुए राजनाथ सिंह ने कहा, ‘अभी तो पाकिस्तान के दो टुकड़े हुए हैं अगर पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आया तो शायद पाकिस्तान के 10 टुकड़े हो जाएं।’ राजनाथ सिंह ने अटल बिहारी वाजपेयी सरकार का जिक्र करते हुए कहा, ‘कारगिल की लड़ाई के बाद भी अटल जी ने पाक की तरफ दोस्ती का हाथ बढ़ाया था। लेकिन पाक ने उसके बदले क्या किया? सीजफायर का उल्लंघन।’

भारत के मुसलमानों का धन्यवाद –

राजनाथ सिंह ने आगे कहा कि भारत का गृहमंत्री होने के नाते और पीएम मोदी की नीयत को जो मैं समझता हूं उस आधार पर कह सकता हूं कि हिंदुस्तान को साथ लेकर चलेंगे, कदम से कदम मिलाकर चलेंगे। दुनिया के सारे देश आईएस को लेकर चिंतित है, लेकिन आईएस भारत के अंदर अपनी जड़े नहीं जमा सका इसके लिए मैं भारत के मुसलमान को धन्यवाद देना चाहता हूं।

भारत को धार्मिक आधार पर बांटने की हो रही कोशिश –

कश्मीर के मुद्दे पर गृहमंत्री ने कहा कि “पाकिस्तान आतंकवाद के सहारे कश्मीर को हमसे अलग करना चाहता है। उन्होंने आगे कहा कि आतंकवाद कायरों का हथियार होता है, बहादुरों का नहीं!” कारगिल युद्द पर बोलते हुए गृहमंत्री ने कहा कि, कारगिल युद्ध के बाद भी अटल जी ने पाकिस्तान की तरफ दोस्ती का हाथ बढ़ाया था, लेकिन उसने बदले में सीजफायर का उल्लंघन किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.