मनोहर परिकर बोले – हमारे हमलों से घबराया पाक, ‘गिड़गिड़ाने’ के बाद भारतीय सेना ने रोकी फायरिंग

नई दिल्ली – भारतीय सैनिक के शव को क्षत-विक्षत करने के पाक कि नापाक हरतक के बाद भारतीय सेना ने जबरदस्त कार्रवाई की, जिसके बाद पाकिस्तान के डीजीएमओ ने बातचीत की गुजारिश की थी। भारत के डीजीएमओ लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने बुधवार शाम 6 बजकर 30 मिनट पर पाकिस्तान के डीजीएमओ से बातचीत की।  इस बारे में रक्षा मंत्री मनोहर परिकर ने कहा है कि एलओसी पर भारतीय सेना के मुंहतोड़ जवाब के बाद पाकिस्तान जवाबी कार्रवाई रोकने के लिए गिड़गिड़ाने की हद तक आ गया था।  Indian army stopped firing supplications.

पाक एक बार फायरिंग करता है तो हम दो बार करते हैं –

पर्रिकर ने तीन दिन पहले पाकिस्तान की ओर से डीजीएमओ स्तर की वार्ता के अनुरोध की तरफ इशारा करते हुए कहा, तीन दिनों से सीमा पर गोलाबारी नहीं हुई है। ऐसा इसलिए कि पाकिस्तान की तरफ जब एक बार गोलाबारी होती है तो हम उसका जवाब दो बार गोलाबारी करके देते हैं। जब उसे यह अहसास हुआ तो वह इसे रोकने के लिए हमारे पास आया। सशस्त्र बलों के पूरी तरह तैयार होने की बात पर जोर देते हुए पर्रिकर ने कहा कि उनकी मां ने उन्हें सिखाया था कि अगर तुम खरगोश के शिकार के लिए भी जाओ तो किसी बाघ को मारने के लिए तैयार रहो।

  

पाक के फोन के बाद रोकी गई जवाबी कार्रवाई –

भारतीय सेना ने माछिल, पुंछ, केल और राजौरी सेक्टर में जोरदार कार्रवाई की। इस दौरान पाकिस्तान की 4 चौकियों को निशाना बनाया गया। कार्रवाई के दौरान इंडियन आर्मी ने 120 मिमी के भारी मोर्टार और मशीन गनों का इस्तेमाल किया गया।

गोवा के एक सम्मेलन में परिकर ने कहा कि बुधवार को हमारी तरफ से भीषम जवाबी कार्रवाई की गई। इसके बाद उधर से फोन आया कि यह कार्रवाई रोक दी जाए। गौरतलब है कि मंगलवार को मिछेल सेक्टर में पाकिस्तानी सेना ने एक भारतीय जवान को मार उसके शव के साथ अमानवीय बर्बरता की थी।