विराट कोहली पर प्रतिबन्ध: हार को नहीं बर्दाश्त कर सके अंग्रेज, मीडिया ने लगाया झूठा आरोप!

विराट कोहली आज के दौर के बेहतरीन खिलाडियों में से एक हैं, यह बार हर कोई जनता है। जब वह मैदान पर होते हैं तो विरोधी टीम के छक्के छुड़ा देते हैं। शायद इसी बात का बदला अंग्रेजी मीडिया उनसे ले रही है। विराट के ऊपर प्रतिबन्ध लगा दिया गया है। आपको बता दें कि ब्रिटेन के प्रमुख अखबार डेली मेल ने विराट कोहली के ऊपर धोखाधड़ी का आरोप लगाया है। इस अखबार ने इस मामले के ऊपर कई खबर की है, पुरे ब्रिटेन में इस बात की चर्चा हो रही है कि भारतीय टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली धोखेबाजी में माहिर हैं।

british media attacks virat kohli ban ball tempering

विशाखापट्टनम मैच हरने के बाद तिलमिलाई ब्रिटिश मीडिया:

दरअसल विशाखापट्टनम में हुए टेस्ट मैच में ब्रिटेन 246 रनों से बुरी तरह से हार गया। ब्रिटेन की क्रिकेट टीम ने तो अपनी हार बर्दाश्त कर ली, लेकिन वहाँ की मीडिया शायद यह नहीं मान सकी कि ब्रिटेन मैच हार चुकी है। इसी का बदला लेने के लिए उन्होंने विराट कोहली पर बॉल टेंपरिंग का झूठा इल्जाम लगा दिया है। विशाखापट्टनम में हुए मैच में विराट हीरो थे और शायद इसी वजह से उन्होंने किसी और खिलाड़ी को इल्जाम लगाने के लिए नहीं चुना।

british media attacks virat kohli ban ball tempering

क्या है पूरा मामला:

ब्रिटेन के डेली मेल के पास तो वैसे कोई ऐसा सबूत नहीं है, लेकिन उसने यह इल्जाम एक फोटो के आधार पर लगाया है, जिसमे विराट बॉल को पकड़े हुए हैं और उसे हाथ से रगड़ रहे हैं। उनका मुँह खुला हुआ है, इसलिए अखबार ने यह दावा किया है कि विराट कोहली बॉल के साथ छेड़खानी कर रहे हैं। अखबार ने यह कहा है कि राजकोट टेस्ट मैच के दौरान वह अपने मुँह में कुछ चबा रहे थे, जिसका इस्तेमाल उन्होंने बॉल को चमकाने के लिए किया था। आपको बता दें जब गेंद काफी पुरानी हो जाती है तो उसे बदल दिया जाता है, लेकिन अगर गेंद चमक रही हो तो उसे नया मानकर नहीं बदला जाता है।

british media attacks virat kohli ban ball tempering

पूरा भारत विराट पर लगे इल्जाम से गुस्से में:

डेली मेल की इस खबर के बाद से विश्व के सारे कोहली फैन गुस्से में हैं, खासतौर पर भारत के सभी लोग इस खबर से काफी चिंतित और गुस्से में है। लोग डेली मेल पर अपना गुस्सा सोशल मीडिया के जरिये निकाल रहे हैं।

भारतीय टीम के खिलाफ रची जा रही है साजिश:

सबके मन में सबसे बड़ा सवाल यह है कि, आखिर अब क्यों डेली मेल ने यह आरोप लगाया है, अगर उसे लगाना ही था तो पहले भी लगा सकती थी। राजकोट के टेस्ट में इंग्लैंड ने अच्छा खेला था, लेकिन वह टेस्ट मैच ड्रा हो गया था। लेकिन इस मैच में इंग्लैंड की टीम की बुरी तरह से हार हुई है। अपने देश की टीम की करारी हार को देखते हुए डेली मेल पूरी तरह से तिलमिला गया है, जिस वजह से उसने बिना सर-पैर के यह आरोप लगा दिया है।

विराट को घेरने की कोशिश:

आपको बता दें जब विराट यह सोचकर मैदान पर उतरते हैं कि आज मैच जीतना है तो उन्हें कोई भी नहीं रोक सकता है। आपको बता दें कि इस टेस्ट मैच में विराट ने अकेले ही दोनों पारियों में ताबड़तोड़ पारी खेलते हुए 167 और 81 रन बनाए थे, जिसकी वजह से भारत को इतनी शानदार जीत मिली। इसी बात से खफा होकर ब्रिटेन का यह अखबार उनको घेरने की कोशिश कर रहा हैं, ताकि उनका मनोबल टूट जाए और आने वाले मैचों में वह अच्छा प्रदर्शन ना कर पायें।

क्या आईसीसी कार्यवाई करेगा:

अब सबसे बड़ा सवाल यह उठ रहा है कि क्या ब्रिटेन द्वारा विराट कोहली पर लगाए गए बॉल टेंपरिंग के मामले में आईसीसी कोई कार्यवाई करेगा। इसका जवाब देते हुए एक पूर्व क्रिकेटर ने बताया है कि, अगर इंग्लैंड की टीम इसके खिलाफ आईसीसी में शिकायत करती है, तो वह कार्यवाई कर सकता है। हालांकि शिकायत करने की आख़िरी तारीख 18 नवम्बर ही थी, क्योंकि कोई भी क्रिकेट सम्बंधित मामला होने पर उसकी शिकायत आईसीसी में 5 दिन के अन्दर करनी होती है। सूत्रों से पता चला है कि इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड विराट कोहली के खिलाफ आईसीसी में शिकायत करने के बारे में सोच रही है। इतना देर होने के बाद भी अगर विश्व की और क्रिकेट टीमें विराट कोहली के खिलाफ शिकायत करती हैं, तो मजबूरन आईसीसी को कार्यवाई करनी पड़ेगी।

british media attacks virat kohli ban ball tempering

बीसीसीआई भी करेगी अपनी तरफ से जाँच:

बीसीसीआई भारतीय टेस्ट क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली को बचाने के लिए जुगत में लगा हुआ है। बोर्ड का यह मानना है कि विराट कोहली से यह काम गलती से हुआ है, उन्होंने मैदान पर कोई चीज नहीं खायी हुई थी, जिसकी मदद से गेंद से किसी भी प्रकार की छेड़छाड़ की जा सके। सभी खिलाड़ीयों को पता है कि आजकल क्रिकेट में बेईमानी करना कितना मुश्किल हो गया है, अब मैदान पर हर जगह कैमरे लगे हुए हैं। कोई भी इतना सब जानते हुए कैसे जानबूझकर कर इतनी बड़ी गलती कर सकता है।

बीसीसीआई रखेगा कोहली के पिछले रिकॉर्ड आईसीसी के सामने:

बीसीसीआई, आईसीसी के सामने विराट कोहली के पीछे के सभी रिकार्ड को भी दिखाने की तैयारी कर रही है। कोहली थोड़े उग्र स्वभाव के जरुर हैं, लेकिन वह क्रिकेट के नियम नहीं तोड़ते हैं। गेंद के साथ किसी तरह की छेड़छाड़ उन्हें बिलकुल भी पसंद नहीं है। कोहली अपनी मेहनत से कोई भी मैच जितना चाहते हैं ना कि बेईमानी से। बीसीसीआई अपनी तरफ से इन्ही पक्षों को रखने के बारे में सोच रही है, जिससे कोहली को बचाया जा सके।

राहुल द्रविण के ऊपर भी लगा था यह इल्जाम:

बहुत पहले राहुल द्रविण के ऊपर भी इसी तरह का इल्जाम लगाया गया था, लेकिन उनके शांत स्वाभाव को देखते हुए और उनके पिछले बर्ताव के आधार पर उन्हें छोड़ दिया गया। अब यह देखना होगा कि इस मामले में विराट कोहली के साथ क्या होता है। प्रतिबन्ध के बाद आगे क्या-क्या होता है? उन्हें छोड़ दिया जाता है या उन्हें कसूरवार मान लिया जाता है। लेकिन यह तो तय है कि इंग्लैंड अपनी हार का बदला विराट कोहली को फँसाकर लेने की फ़िराक में लगा हुआ है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.