शरद पूर्णिमा पर धन के राजा कुबेर को प्रसन्न करने के लिए पढ़ें ये मंत्र, चमक जाएगा आपका भाग्य

शरद पूर्णिमा को बहुत ही उत्तम तिथि मानी जाती है इसे कोजागरी व्रत के रूप में भी मनाया जाता है ऐसा कहा जाता है कि यह दिन इतना शुभ और सकरात्मक होता है कि इस दिन किए जाने वाले छोटे से उपाय से भी आपकी बड़ी बड़ी परेशानियां और विपत्तियां दूर हो जाती है पौराणिक मान्यताओं के अनुसार इसी दिन माता लक्ष्मी जी का जन्म हुआ था इसलिए धन प्राप्ति के लिए यह तिथि सबसे उत्तम मानी जाती है इस दिन प्रेम अवतार भगवान श्री कृष्ण, धन की देवी माता लक्ष्मी और 16 कलाओं वाले चंद्रमा की उपासना से अलग अलग वरदान प्राप्त किए जा सकते हैं इसके अलावा कुबेर धन के राजा है पृथ्वी लोक की समस्त धनसंपदा का एकमात्र उन्हें ही स्वामी बनाया गया है कुबेर देवता शिव के परम प्रिय सेवक भी है धन के अधिपति होने की वजह से इन्हें शरद पूर्णिमा की रात मंत्र साधना द्वारा प्रसन्न करने का विधान भी बताया गया है।

शरद पूर्णिमा की तिथि से ही शरद ऋतु का आरंभ होता है इस दिन चंद्रमा संपूर्ण और 16 कलाओं से युक्त होता है इस दिन चंद्रमा से अमृत की वर्षा होती है जो धन प्रेम और सेहत तीनों प्रदान करती है प्रेम और कलाओं से परिपूर्ण होने की वजह से श्री कृष्ण ने इसी दिन महारास रचाया था इस दिन अगर विशेष प्रयोग किए जाए तो इससे बेहतरीन स्वास्थ्य अपार प्रेम और खूब सारा धन पाया जा सकता है परंतु इन प्रयोगों के लिए कुछ सावधानियां और नियमों का पालन करना बहुत ही आवश्यक है शरद पूर्णिमा पर यदि आप कोई महाप्रयोग कर रहे हैं तो पहले इस तिथि के नियमों और सावधानियों के बारे में अवश्य जान लीजिए।

शरद पूर्णिमा पर चांद इतना खूबसूरत होता है कि मन करता है कि उसको एक नजर देखते ही रहे यह चंद्र ना सिर्फ सेहत की दृष्टि से महत्वपूर्ण है बल्कि धार्मिक दृष्टि से भी विशेष पूजनीय है इस दिन इनको प्रसन्न करने के लिए बहुत से प्रयास किए जाते हैं कुंडली में चंद्र की स्थिति मजबूत करनी है या मन को स्थिर बनाना है तो इस दिन चंद्र मंत्र मन की शांति और शीतलता के साथ अपार धन धन संपत्ति और ऐश्वर्य देते हैं शरद पूर्णिमा की रात आप कुबेर देवता को प्रसन्न कर सकते हैं जैसा कि आप लोग जानते हैं कि कुबेर देवता धन के देवता माने गए हैं धन के अधिपति होने के कारण इन्हें शरद पूर्णिमा की रात मंत्र साधना द्वारा प्रसन्न किया जा सकता है अगर आप इनको प्रसन्न करना चाहते हैं तो नीचे दिए हुए मंत्रों का जाप जरूर कीजिए-

ॐ यक्षाय कुबेराय वैश्रवणाय धन धान्याधिपतये
धन धान्य समृद्धिं मे देहि दापय दापय स्वाहा।।

उपरोक्त जो कुबेर देवता को प्रसन्न करने का मंत्र बताया गया है यदि आप इस मंत्र का जाप करते हैं तो इससे आपके ऊपर कुबेर देवता की कृपा दृष्टि हमेशा बनी रहेगी इस मंत्र के माध्यम से आप कुबेर देवता को प्रसन्न कर सकते हैं इनके आशीर्वाद से आपके जीवन में कभी भी धन-धान्य की कमी नहीं रहेगी और आपके जीवन से धन से संबंधित समस्त परेशानियां दूर होंगी आपको अपने भाग्य का पूरा साथ मिलेगा और आप अपने जीवन में सफलता हासिल करेंगे।