वर्किंग वुमेन होने के साथ बच्चों की करनी है सही परवरिश, तो रखें इन बातों का ध्यान

एक कामकाजी महिला के होने पर घर औरऑफिस दोनों को संभालना थोड़ा मुश्किल हो जाता है, या कह सकते हैं कि ये उनके लिए एक बड़ा चैलेंज होता है।ये चैलेंज तब और बढ़ जाता है जब आप मां बनती हैं और आपके ऊपर ऑफिस, घर के साथ बच्चे की जिम्मेदारी भी आ जाती है, क्योंकि बच्चा हर छोटी-बड़ी जरूरत के लिए मां पर ही निर्भर करता है, भले ही घर पर बच्चे की देखभाल के लिए कोई हो लेकिन मां का दिल हमेशा बच्चे के पास ही लगा रहता है क्योंकि अगर मां बच्चे को पर पूरा ध्यान नहीं दे पाती है तो इसका असर बच्चे की आगे आने वाली लाइफ पर देखने को मिलता है, और इन्हीं सबके चलते कुछ महिलाएं अपनी जॉब छोड़कर अपना पूरा समय बच्चे की देखभाल करने में निकाल देती हैं।लेकिन अगर आप चाहती हैं कि आप काम के साथ अपने बच्चे को भी पूरा समय दे सकें तो इसके लिए जरूरी है कि आप थोड़ स्मार्टली काम करें।हम आपको ऐसे कुछ ऐसे टिप्स बता रहे हैं जिनके अगर आप फॉलो करेंगी तो आप ऑफिस और बच्चे दोनों ही जिम्मेदारियां एक साथ बिना किसी परेशानी के निभा सकती हैं।

1.तालमेल अगर आप बच्चे के साथ ऑफिस को भी उतने ही अच्छे से डील करना चाहतीं है तो उसके लिए सबसे जरूरी है आपको बच्चे और ऑफिस के बीच में तालमेल बढ़ाए, अपने कामों को इस तरह से फिक्स करें  कि आपके कामों में कभी कोई अड़चन ना आए।अपना एक रूटीन फिक्स कर लें।जब आप सारा काम टाइम मैनेजमेंट के हिसाब से करेंगी तो आप काम के साथ अपने बच्चे को भी समय दे पाएंगी।

2.ऑफिस का चयन आगर आपको बच्चे के  साथ ऑफिस भी संभालना हैं तो हमेशा अपने ऑफिस का चुनाव करते वक्त ध्यान रखें कि आप किसी ऐसी कंपनी में काम करें, जहां एक मां के तौर पर आपकी जिम्मेदारी को समझा जाए और उसी तरह से आपको आपके ड्यूटीस दिए जाएं।साथ ही आपका टाअम भी फलेक्सीबल हो,यदि आपको इस तरह की सुविधा और स्वतंत्रता किसी ऑफिस में मिलती है तो आप बहुत इत्मीनान से दोनों के बीच संतुलन बना सकती हैं।

3.सामान रखें व्यवस्थित घर में बच्चों के सामान को फैला कर रखने की बजाए उसकी एक जगह सुनिश्चित करदें, जहां पर बच्चे का सारा सामान रखा हो ताकि यदि आपका बच्चा किसी चीज की मांग करता है तो आप बिना समय बर्बाद करें उसे वो चीज दे दें।

4.मदद अपने बच्चे को संभालने के लिए अपने पार्टनर की मदद लें, अगर आप मिलजुल कर काम करेंगी तो निश्चित ही काम जल्दी खत्म होगा और आप भी रिलैक्स रहेंगी।घर के छोट-छोटे कामों में अपने पति की मदद लें, इससे आप घर और ऑफिस के साथ बच्चे को भी समय दे पाएंगी।

5.मेड इसके साथ ही आप घर में एक मेड भी रख सकती हैं,जो आपके ना रहने पर बच्चे की देखभाल करेगी।मेड को अच्छी तरह समझा दें कि बच्चे को कब खाना देना या फिर उसे किस टाइम पर कौन सी दवा देनी है।साथ ही समय-समय पर फोन पर अपने बच्चे का हाल-चाल लेती रहें।

6.चिंता घर ऑफिस और बच्चे इन तीनों को संभालने के लिए आपका स्वस्थ होना भी काफी जरूरी है,तो इस बात का ध्यान रखें कि आप बेवजह किसी की बात की चिंता ना करें, और तनाव से बचने की कोशिश करें।

7.प्राथमिकता सबसे पहले अपनी प्राथमिकता चुनें आप ऑफिस और बच्चे में से किसको ज्यादा प्राथमिकता देना चाहती हैं।या इन दोनों को साथ में संभालना चाहती हैं।अगर आप दोनों को साथ में संभालना चाहती हैं तो जरूरी है कि आप अपने काम में तालमेल बनाकर रखें।जिससे आप दोनों ही कामों को सही ढंग से कर पाए।

8.वीकएंड बच्चों को वीकएंड का इंतजार बड़ी बेसब्री से होता है क्योंकि इस समय वो आपके साथ हो सकते हैं। वीकएंड पर खाली रहने के लिए हफ्ते में हर दिन छोटे-छोटे काम निपटा लें, जिससे आप छुट्टी के दिन बच्चों के साथ पूरा समय व्यतीत कर सकें।