24 घंटे बाद टाटा स्काई ने दिया जवाब, इस वजह से बंद किए गए थे 27 चैनल

आज स्मार्टफोन और टीवी हुमरे लिए इतने ज्यादा जरूरी हो चुके हैं की अगर कुछ घंटों के लिए भी इसने जुड़ा किया जाए तो लोग क्या क=से क्या करने तक को शुरू हओ जाते हैं। अगर आप भी टाटा स्काई के ग्राहक है तो आपने भी वही समस्या झेली होगी जो बाकी के टाटा स्काई ग्राहक पिछले कुछ दिनों से झेल रहे हैं। असल में हुआ कुछ ऐसा की दर्शकों ने जैसे ही अपनी टीवी खोली तो उन्हें झटका सा लगा। असल में जिन भी लोगों ने न्यूज़ चैनल या सोनी चैनल देखना चाहा तो वो उसे देख पाने में असमर्थ थे और लोग सोनी टीवी पर प्रसारित होने के वाले बहुचर्चित टीवी शो कौन बनेगा कड़ोडपति लोग नहीं देख पा रहे थे जिसके बाद सोशल मीडिया पर लोगों का गुस्सा फुट पड़ा।

जानकरी में आया की जब दर्शक चैनल को खोल रहे थे तो उनकी स्क्रीन पर टाटा स्काई की तरफ से एक संदेश लिखा आ रहा था की इस चैनल को बिना किसी अतिरिक्त शुल्क के देखने के लिए अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से 9739290123 पर कॉल करें।

24 घंटे बाद दिया जवाब

इस घटना से दर्शकों में काफी ज्यादा गुस्सा फूटा था क्योंकि  जो नंबर उनकी स्क्रीन पर आ रहा था उसपर कॉल करने पर फोन भी नहीं लग रहा था और वो लगातार अपने पसंदीदा चैनल को नहीं देख पा रहे थे। इस सारी समस्या को लेकर जब सोशल मीडिया पर दर्शकों जमकर अपना गुस्सा निकाला और कई सारे कमेंट्स आने लगे उसके बाद डीटीएच कंपनी टाटा स्काई ने अपने 27 चैनल बंद करने के जवाब में 24 घंटे बाद अपनी तरफ से सफाई दी।

टाटा स्काई ने ट्विटर पर एक सोशल मीडिया यूजर को जवाब देते हुए बताया कि यह समस्या उसकी तरफ से नहीं है बल्कि ब्रॉडकास्टिंग कंपनियों से समझौता ना होने के होने की वजह से ऐसा कदम उठाना पड़ा। टाटा स्काई ने सफाई देते हुए कहा की सोनी पिक्चर्स और टीवी टुडे द्वारा बार बार दाम बढ़ रहे हैं, जिसकी वजह से उन्हें यह कदम उठाना पड़ा है। हालांकि 24 घंटे बाद कई चैनल्स को कम्पनी ने शुरू कर दिया है।

काफी प्रयास करने के बाद भी जब चैनल प्रसारित नहीं हो रहा था तब दर्शकों ने टाटा स्काई के कस्टमर केयर नंबर और चैनलों को शुरू करने के लिए दिये गए नंबर पर फोन लगाना चाहा तो भी वो नहीं लगा। बता दें की एसपीएन के कुल 32 चैनल हैं जिनमें से 27 चैनलों को फिलहाल पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। इस बाबत एसपीएन ने अखबारों में विज्ञापन देकर के आम जनता को सूचित भी किया है कि उसने अपने किसी भी चैनल को देखने के लिए किसी भी तरह से दाम नहीं बढ़ाए हैं।

टाटा स्काई के हेल्पलाइन नंबर पर भी काल नहीं लागने पर दर्शकों का गुस्सा सातवें आसमान पर था और कई ने तो यहाँ तक कह डाला की “टाटा स्काई के दिन अब चले गये हैं और अब लगता है टीवी इंडस्ट्री में युद्ध के बादल मंडरा रहे हैं।” एक ट्विटर यूज़र ने इस घटना को सीधे सीधे धोखाधड़ी का नाम देते हुए धम्की भरे लहजे में टाटा स्काई को 12 घंटे की मोहलत देते हुए सारे चैनल शुरू करने के लिए कहा है और ऐसा नही करने की स्थिति में मज़बूरन उन्हें सुप्रीम कोर्ट का रुख करना होगा।