केजरीवाल का भाजपा पर हमला, हिंदुओं की हितैषी नहीं है भाजपा सत्ता के लिए सबको मार देगी गोली

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के पॉश इलाक़े गोमती नगर में उत्तर प्रदेश पुलिस के एक कांस्टेबल ने एप्पल कम्पनी के मैनेजर की गोली मारकर हत्या कर दी। मैनेजर की हत्या के बाद मुद्दे पर जमकर राजनीति शुरू हो गयी है। इस मुद्दे पर हर विपक्षी पार्टी भाजपा पर निशाना साधे हुए है। वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल इससे भला पीछे कैसे रह सकते थे। केजरीवाल ने इस मुद्दे को लेकर भाजपा पर जमकर हमला बोला है। केजरीवाल ने भाजपा से सवाल पूछा कि विवेक तिवारी (एप्पल का मृतक मैनेजर) तो हिंदू था फिर उसे क्यों मारा?

सत्ता के लिए हिंदुओं का क़त्ल करना पड़े तो नहीं सोचेंगे 2 मिनट:

केजरीवाल ने ट्वीट करके भाजपा से सवाल किया कि विवेक को आख़िर क्यों मारा? केजरीवाल ने कहा कि भाजपा ने नेता पूरे देश में लड़कियों से बलात्कार करते हुए घूमते हैं। वो हिंदुओं के हितैषी नहीं है। अगर सत्ता पानें के लिए इन्हें सभी हिंदुओं का क़त्ल भी करना पड़ा तो ये दो मिनट भी नहीं सोचेंगे। अरविंद केजरीवाल के इस ट्वीट के बाद आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता कपिल मिश्रा ने केजरीवाल को घेरा। उन्होंने ट्वीट करके कहा कि, हिंदू को मारा, लड़कियों से रेप किया, हिंदुओं का क़त्ल किया, ऐसा करने से क्या मिलेगा?

मिश्रा ने हमला करते हुए कहा कि, देश में आग लगा देना चाहते हैं? देश जलाकर क्या मिलेगा? सत्ता, पैसा, ईनाम? मिश्रा ने केजरीवाल पर हमला करते हुए कहा कि आप मोदी और भाजपा के विरोध में पागल हो चुके हैं। इलाज करवाइए। ये भाषा- हिंदू को मारा, हिंदू लड़कियों का रेप किया, हिंदुओ का क़त्ल, इससे बिलकुल आग लगा देना चाहते हैं देश में। वहीं दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष ने इसे केजरीवाल की ओछी सोच बताया है। उन्होंने ट्वीट करके कहा कि, आप के कार्यकर्ता केजरीवाल की ओछी सोच देख लो। उन्होंने कहा कि विवेक तिवारी की हत्या हुई है। क़सूरवार को सज़ा मिलेगी, हम उसके परिवार के साथ खड़े हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दें यूपी की राजधानी लखनऊ के पॉश इलाक़े गोमती नगर विस्तार में शुक्रवार देर रात पुलिस कांस्टेबल प्रशांत चौधरी ने एप्पल के सेल्स मैनेजर विवेक तिवारी को गोली मार दी थी। इसकी वजह से उनकी मौत हो गयी। इस घटना के बाद यूपी पुलिस कठघरे में आ गयी है। इस घटना के बाद आरोपी कांस्टेबल को नौकरी से निकाल दिया गया है। इस मामले में पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से इस्तीफ़ा माँगा है। उन्होंने इस पूरी घटना के लिए यूपी सरकार को ज़िम्मेदार ठहराया है।

ट्वीट करके उन्होंने कहा कि यूपी में पुलिस ने एक आम आदमी की हत्या करके साबित कर दिया कि भाजपा सरकार में एनकाउंटर की हिंसात्मक संस्कृति कितनी विकृत हो गयी है। एक मल्टीनेशनल कम्पनी के कर्मचारी के मारे जानें से अन्तर्राष्ट्रीय निवेशकों की निगाहों में प्रदेश की छवि ख़राब हुई है। इस घटना को लेकर कांग्रेस नेता राज बब्बर ने भी मुख्यमंत्री योगी पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि इस गोलीकांड को लेकर मुख्यमंत्री को शर्म करनी चाहिए। मुख्यमंत्री योगी ने पुलिस की वर्दी में गुंडे पाल रखे हैं। मारे गए विवेक तिवारी की बेटी प्रियांशी ने इंसाफ़ की गुहार लगाई है।