कवि बनकर राहुल गांधी ने राफ़ेल मामले में घेरा पीएम मोदी को, लिखी दमदार कविता

इस समय राजनीतिक गलियारे में दो ही चीज़ों की बात ज़ोरों पर की जा रही है। पहली राफ़ेल डील की और दूसरी राहुल गांधी के कविता की। जी हाँ राहुल गांधी ने मोदी सरकार को घेरने के लिए एक मज़ेदार कविता लिखी है। राहुल गांधी के इस टैलेंट से यक़ीनन आप अब तक अनजान रहे होंगे। लेकिन राहुल गांधी ने कविता के माध्यम से भाजपा और नरेंद्र मोदी पर हमला करके सबको चौंका दिया है। बता दें राफ़ेल मामले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी लगातार भाजपा पर हमला बोले हुए हैं।

राफ़ेल डील पर राहुल ने लिख दी कविता:

राफ़ेल डील धीरे-धीरे भाजपा के लिए नासूर बनता जा रहा है। राफ़ेल डील की वजह से भाजपा की देश में ही नहीं बल्कि विदेशी मीडिया में भी जमकर किरकिरी हो रही है। एक तरफ़ राफ़ेल मामले में कांग्रेस लगातार भाजपा और मोदी के ऊपर हमला किए हुए है, वहीं पीएम मोदी ने इस मामले में अब तक मुँह नहीं खोला। भाजपा के अन्य नेता सरकार का राफ़ेल डील में बचाव करते हुए दिखाई दे रहे हैं। बता दें राहुल गांधी ने पीएम मोदी को घेरने का नया तरीक़ा अपनाया है। बता दें राहुल गांधी ने राफ़ेल डील को लेकर एक पूरी कविता लिख दी है।

मोदी-अंबानी का देखो खेल
HAL से छीन लिया राफेल

धन्नासेठों की कैसी भक्ति
घटा दिया सेना की शक्ति

जिस अफसर ने चोरी से रोका
ठगों के सरदार ने उसको ठोका

पिट्ठुओं को मिली शाबाशी
सेठों ने उड़ती चिड़िया फाँसी

जन-जन में फैल रही है सनसनी
मिलकर रोकेंगे लुटेरों की कंपनी

राफ़ेल डील है एक वैश्विक भ्रष्टाचार:

आपकी जानकारी के लिए बता दें यह पहली बार नहीं है जब कांग्रेस अध्यक्ष ने पीएम मोदी और भाजपा को राफ़ेल डील में घेरा हो। इससे पहले भी वह कई मौक़ों पर पीएम मोदी को जमकर घेर चुके हैं। पिछले दिनों राहुल गांधी ने तो पीएम मोदी को चोर तक कह दिया था। एक ट्वीट में राहुल गांधी ने पीएम मोदी को कमांडर इन थीफ़ कहा था। बता दें 29 अगस्त को राहुल गांधी ने एक ख़बर को साझा करते हुए लिखा था, वैश्विक भ्रष्टाचार। सच में राफ़ेल विमान बहुत तेज़ और दूर उड़ता है। यह आने वाले एक दो हाप्तों में बंकर को तबाह करने वाले बम भी गिरा सकता है। मोदी जी कृपया अनिल को बताएँ कि फ़्रांस में बहुत दिक़्क़त है।

नहीं होगी किसी भी क़ीमत पर डील रद्द:

राहुल गांधी ने फ़्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ओलांद के बयान पर भी प्रेस कॉन्फ़्रेन्स की थी। उनका कहना था कि फ़्रांस का पूर्व राष्ट्रपति भारत के प्रधानमंत्री को चोर कह रहा है। पीएम को जवाब देना चाहिए। आपकी जानकारी के लिए बता दें कुछ दिनों पहले फ़्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ़्रांस्वा ओलांद ने इंटरव्यू में कहा था कि मोदी सरकार ने ही उन्हें अम्बानी की कम्पनी का नाम सुझाया था। इसी को लेकर कांग्रेस काफ़ी दिनों से भाजपा पर निशाना साध रही है। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने राफ़ेल सौदे पर स्पष्ट रूप से कहा कि राफ़ेल सौदा बिलकुल क्लीन है, इस वजह से यह रद्द नहीं होगा। जेटली ने विपक्ष के सभी आरोपों को बेबुनियाद भी बताया। उन्होंने कहा था कि जीएसी की मामले की जाँच करेंगी, लेकिन यह डील जारी रहेगी।