जीतकर भी नहीं मिलती पूरी रकम, ये है ‘कौन बनेगा करोड़पति’ का पूरा सच

सोनी चैनल पर प्रसारित होने वाले गेम शो कौन बनेगा करोड़पति ने अपने 10वें सीज़न से लोगों को बांधकर रखा है. शो के होस्ट बॉलीवुड महानायक अमिताभ बच्चन हैं और ये पिछले कई सालों से इस शो को होस्ट कर रहे हैं. इस शो में जीती गई रकम से आम आदमी अपने सपनों को पूरा करते हैं और बहुत से लोग ऐसे होते हैं जो इतनी बड़ी रकम पहली बार देखते हैं. शो के दौरान जीती गई रकम को अमिताभ बच्चन चेक द्वारा देते हैं और इस साल से इस शो में डिजिटल भारत के अंतर्गत नेट बैंकिंग से सीधे अकाउंट में जीती हुी राशि जाती है. मगर क्या आप जानते हैं इतनी मेहनत से खेले गए खेल में जीती गई रकम को आप सोच तो लेते हैं लेकिन असल में वो आपको पूरी नहीं मिलती है ? जीतकर भी नहीं मिलती पूरी रकम तो होता क्या है आपकी जीती हुई का, ये पूरा क्यों नहीं मिलता. आपके इन्हीं सवालों का जवाब हम आपको आज के इस आर्टिकल में देंगे.

जीतकर भी नहीं मिलती पूरी रकम

एक आम आदमी का सपना होता है कि एक बार उसे अमिताभ बच्चन के सामने हॉट सीट पर बैठ जाएं और बार ये गेम खेल लें. खेलते-खेलते आप एक करोड़ के सवाल पर भी पहुंच जाएं और जीत भी जाएं, साथ ही आपको एक करोड़ का चेक भी मिल जाए मगर वो रकम आपको मिलती ही नहीं जो आप शो के दौरान जीतते हैं. इस बात को सुनकर आपका चौंकना लाज़मी है लेकिन आपको जीती हुई रकम पूरी नहीं मिलती तो होता क्या है उस रकम का तो आपको बता दें कि ऐसा इसलिए होता है क्योंकि आपकी जीती हुई रकम का 30 प्रतिशत टैक्स में चला जाता है. टैक्स एक्सपर्ट सौरभ जैन के अनुसार, ऐसा सिर्फ कौन बनेगा करोड़पति शो में ही नहीं बल्कि लॉटरी, दूसरे गेम शो, क्रॉसवर्ड पजल्स, रेस और भी कई ऐसे शोज जिसमें आपको पैसे जीतने के चांसेस होते हैं उसमें आप जीतते तो उतनी रकम है लेकिन आपके हाथों में 30 प्रतिशत कटकर ही दिया जाता है. इस तरह की आने वाली आय को इनकम फ्रॉम अदर सोर्स माना जाता है और ऐसी आय में जीतने वाले को 30 प्रतिशत टैक्स के रूप में देना ही होता है.

सौरभ के अनुसार, इनकम टैक्स लॉ के सेक्शन 194B के मुताबिक, किसी दूसरे सोर्स से मिलने वाली धनराशि पर 30 प्रतिशत टीडीएस काटा जाता है. ये बात सिर्फ करोड़ो रुपयों की नहीं बल्कि अगर कोई कंटेस्टेंट सिर्फ दस हजार भी जीतता है तो उसका भी 30 प्रतिशत टीडीएस के रूप में देना पड़ता है. इतना ही नहीं अगर आपको किसी शो के दौरान कार प्राइज में मिलती है तब भी आपको कार की कुल कीमत के 30 प्रतिशत का भुगतान शो के ऑर्गनाइजर को देना होता है. ये राशि भी टीडीएस के अंतर्गत ही ली जाती है. इसी वजह से जब साल 2011 में सुशील कुमार कौन बनेगा करोड़पति-5 में 5 करो़ड़ की धनराशि जीते थे तब उन्हें 3.6 करोड़ ही मिला था. क्योंकि 5 करोड़ में टीडीएस टैक्स कटकर सुशील कुमार को 3.6 करोड़ इनाम के रूप में मिले थे.