इस वजह से अमिताभ के पैरों में गिरने के लिए मजबूर हो गए थे अनिल कपूर, वजह हैरान कर देगी

बॉलीवुड में जब भी दिग्गज कलाकारों की बात होती है अमिताभ बच्चन का नाम सबसे ऊपर आता है. अमिताभ को बॉलीवुड का महानायक और शहनशाह भी कहा जाता है. वह अपने अभिनय का लोहा हर फिल्म में मनवाते हैं. अब तक सैकड़ों फिल्मों में अभिनय कर चुके अमिताभ बच्चन ने देश नहीं बल्कि विदेशों में भी अपनी एक अलग पहचान बनाई है. आज विदेश में भी उनकी बड़ी फैन फॉलोइंग हैं. बच्चों से लेकर बड़ों के पसंदीदा कलाकारों में बिग बी का नाम जरूर शामिल होता है. 10 सितंबर से कौन बनेगा करोड़पति का 10वां सीजन शुरू हो चुका है. उम्मीद है कि हर बार की तरह ये सीजन भी सुपरहिट रहेगा. इस सीजन भी अमिताभ बच्चन उसी उत्साह के साथ कंटेस्टेंट की हौसलाअफजाई कर रहे हैं. अब तक इस शो में भाग लेकर कई आम आदमियों की किस्मत रातोंरात पलट चुकी है. आम आदमी की तरह कुछ सेलेब्स भी इस शो में हॉटसीट पर बैठे नजर आये. जहां आम आदमी ने जीते हुआ पैसों से अपना सपना साकार किया वहीं, सेलेबस ने जीत की रकम चैरिटी को दान कर दी. इस शो में अब तक सलमान खान, कटरीना कैफ, शाहरुख़ खान, संजय दत्त, प्रियंका चोपड़ा, करीना कपूर और अनिल कपूर जैसे कई सितारे आ चुके हैं. लेकिन आज के इस पोस्ट में हम बात करेंगे उस एपिसोड कि जिसमें अनिल कपूर आये थे. कौन बनेगा करोड़पति के छठे सीजन में अनिल कपूर आये थे. इस दौरान उन्होंने अपनी फिल्म ‘स्लमडॉग मिलियनेयर’ के बारे में कई बातें बताई थी. इतना ही नहीं, इस एपिसोड में वह अमित जी के पैरों में गिर गए थे. क्या है पूरा वाकया चलिए आपको बताते हैं.

इस वजह से गिर गए अमिताभ के पैरों में

केबीसी के सेट पर अनिल कपूर ने बताया कि जब उन्हें ‘स्लमडॉग मिलियनेयर’ के लिए अप्रोच किया गया था तब वह ये फिल्म करने के लिए तैयार नहीं थे. उन्हें इस फिल्म के डायरेक्टर डैनी बॉयल के बारे में कुछ नहीं पता था. वह नहीं जानते थे कि डैनी बॉयल कौन हैं. तब एक दिन अनिल कपूर के बेटे ने उन्हें बताया कि डैनी बॉयल हॉलीवुड के बहुत बड़े निर्देशक हैं और उन्हें उनके साथ काम करना चाहिए. बेटे के कहने पर अनिल ने फिल्म की स्क्रिप्ट पढ़ी और रोल के बारे में पता चला. जब अनिल को अपने रोल के बारे में पता चला तो उन्हें ये बहुत आसान लगा. उनके दिमाग में आया कि ये काम तो केबीसी में अमिताभ जी करते हैं. वो आते हैं, बैठते हैं, सवाल पूछते हैं और चले जाते हैं. रोल को बेहतर तरीके से समझने के लिए उन्होंने केबीसी के प्रोड्यूसर सिद्धार्थ बासु को फोन किया. उन्होंने सिद्धार्थ से कहा कि वह गेम का बेसिक समझना चाहते हैं. जिसके बाद सिद्धार्थ ने अनिल के लिए एक मॉक सेशन तैयार किया. एक-दो दिन जाने के बाद अनिल ने कहा, “अमित जी के पैर कहां है, मैं उनके पैर छूना चाहता हूं”. अनिल ने कहा कि उन्होंने अपने करियर में इससे ज्यादा एजुकेटिव प्रोग्राम नहीं देखा था.

देखें वीडियो-

दोस्तों, उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा. पसंद आने पर लाइक और शेयर करना ना भूलें.