विशेषसमाचार

पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतों के विरोध में कांग्रेस का भारत बंद, जानिए कैसा है देश का हाल

पेट्रोल, डीजल की बढ़ती कीमतों और लगातार लुढ़कते रुपए के विरोध में आज कांग्रेस की अगुवाई में विपक्ष ने भारत बंद बुलाया है। भारत बंद की अगुवाई कर रही कांग्रेस का दावा है कि उसके साथ 20 से 21 विपक्षी पार्टियां हैं। जिसमें सपा, बसपा, डीएमके, जेडीएस, आरजेडी, वामदल आदि का समर्थन प्राप्त है। वहीं ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस, अरविंद केजरीवाल की आदमी पार्टी और बीजू जनता दल ने इस बंद से दूर रहने का फैसला किया है।

 

सुबह 9 बजे से दोपहर 3 बजे तक बंद का आह्वान किया गया है। इस बंद के दौरान अस्पताल और एंबुलेंस को बाहर रखा गया है। जबकि कर्नाटक समेत कुछ राज्यों में स्कूल, कॉलेज और दफ्तर बंद कर दिए गए हैं। जानकारी के लिए बता दें कि विपक्ष के इस भारत बंद के बावजूद आज फिर से पेट्रोल और डीजल के दामों में बढ़ोतरी हुई है। दिल्ली में पेट्रोल 22 पैसे और डीजल 23 पैसे प्रति लीटर मंहगा हुआ है। जबकि मुंबई में पेट्रोल सबसे मंहगा 88.12 रूपए प्रति लीटर मिल रहा है।

भारत बंद का असर सुबह से ही पूरे देश में देखने को मिल रहे हैं। विपक्षी पार्टियां लगातार विरोध प्रदर्शन कर रही हैं। बढ़ती महंगाई और लुढ़कते रूपए के विरोध में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत कई दिग्गज नेता आज नई दिल्ली में राजघाट से रामलीला मैदान तक पैदल मार्च करेंगे। राहुल गांधी मानसरोवर यात्रा से लौटे हैं, वहां से लाए जल को राहुल ने बापू के समाधि पर अर्पित किया। माना जा रहा है कि इस प्रदर्शन में यूपीए की अध्यक्ष सोनिया गांधी भी शामिल हो सकती हैं।

आम आदमी पार्टी और तृणमूल कांग्रेस की अलग राय-

कांग्रेस ये कह रही है कि आम आदमी पार्टी इस बंद के साथ है, लेकिन आम आदमी पार्टी ने खुद सामने आकर कहा है कि पेट्रोल, डीजल के बढ़ते दामों का हम पुरजोर विरोध करते हैं। लेकिन कांग्रेस के समय में भी यही हाल था। वहीं बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की सुप्रीमो ममता बनर्जी का कहना है कि जिन मुद्दों पर भारत बंद बुलाया जा रहा है, वह उन मुद्दों पर साथ हैं। लेकिन घोषित नीति के मुताबिक वो राज्य में किसी भी प्रकार की हिंसा और हड़ताल के खिलाफ हैं।

जानिए कैसा है अलग अलग इलाकों में भारत बंद का हाल-

नई दिल्ली में राहुल गांधी समेत कई दिग्गज कांग्रेसी राजघाट से रामलीला पैदल मार्च पर हैं।

कांग्रेस द्वारा भारत बंद के आह्वान से गुजरात के भड़ूच में कुछ प्रदर्शनकारियों ने टायरों में आग लगा दी और कई बसों समेत ट्रकों को भी रोका।

बिहार की राजधानी पटना में जनअधिकार लोकतांत्रिक पार्टी के कार्यकर्ताओं ने राजेंद्र नगर टर्मिनल में पटरियों में ट्रेनों को रोककर विरोध प्रदर्शन किया।

बिहार के भोजपुर में ही शांतिपूर्ण प्रदर्शन के द्वारा कई ट्रेनें रोकी गईं।

आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा में सीपीआई और सीपीएम के कार्यकर्ताओं ने भी प्रदर्शन किया।

ओड़िसा के भुवनेश्वर में भी विपक्षी दलों का प्रदर्शन।

Back to top button
?>