ब्रेकिंग: स्पेशल सेल ने की आतंकियों की साज़िश नाकाम, दिल्ली से गिरफ़्तार हुए IS-JK के दो आतंकी

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने इस्लामिक ग्रुप ऑफ़ जम्मू-कश्मीर से सम्बंध रखने वाले दो आतंकियों को गिरफ़्तार किया है। बताया जा रहा है कि ये दोनो आतंकी दिल्ली में किसी बड़ी आतंकी घटना को अंजाम देने की योजना बना रहे थे। स्पेशल सेल ने इनके मंसूबों पर पानी फेरते हुए इन्हें गिरफ़्तार कर लिया है। जानकारी के अनुसार इन आतंकियों की गिरफ़्तारी गुरुवार की रात लाल क़िला के पास अंतर्राज्यीय बस अड्डे से हुई। लेकिन आतंकियों के पकड़े जाने का ख़ुलासा शुक्रवार को किया गया।

परवेज़ के भाई की एनकाउंटर में हो गयी थी मौत:

गिरफ़्तार दोनो आतंकियों की पहचान परवेज़ राशिद और जमशेद जहूर के रूप में हुई है। ये मूल रूप से जम्मू-कश्मीर के रहने वाले हैं और इस्लामिक ग्रुप ऑफ़ जम्मू-कश्मीर से जुड़े हुए हैं। इस समय पुलिस दोनो आतंकियों से पूछताछ में जुटी हुई है।

हालाँकि अभी तक यह पता नहीं चल पाया है कि ये दिल्ली में किस मक़सद से आए थे? बताया जा रहा है कि ये दोनो दिल्ली में किसी बड़ी घटना को अंजाम देने के लिए आए हुए थे। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार जमशेद जहूर के पिता जम्मू-कश्मीर पुलिस में हैं, वहीं परवेज़ के भाई की मौत एनकाउंटर में हुई थी।

आपको बता दें ख़ुफ़िया एजेंसियों ने देश में बढ़ती आतंकी गतिविधियों को लेकर गृह मंत्रालय और पुलिस को पहले ही अलर्ट कर दिया था। ख़ासतौर से 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर देश की राजधानी दिल्ली में आतंकियों द्वारा किसी घटना को अंजाम देने की आशंका की वजह से कड़ी सुरक्षा का प्रबंध किया गया था। इसी को ध्यान में रखते हुए दिल्ली-एनसीआर में सुरक्षा एजेंसिया अलर्ट पर थीं। दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक के अनुसार देश की राजधानी होने की वजह से दिल्ली हमेशा से ही आतंकियों के निशाने पर रहती है।

दिल्ली मेट्रो पर हो सकता है आतंकी हमला:

दिल्ली पुलिस आयुक्त के अनुसार दिल्ली में हमेशा आतंकी हमले के इनपुट रहते हैं। दिसम्बर 2017 में जैश-ए-मोहम्मद बड़े हमले की धमकी दे चुका है। दिल्ली पुलिस के अनुसार आतंकी घटनाओं को रोकने के लिए सभी क़दम उठाए जा रहे हैं। इसके मद्देनज़र दिल्ली में किरायेदार व नौकरियों पर रखने से पहले लोगों के वेरिफ़िकेशन पर ज़ोर दिया जा रहा है। बताया जा रहा है कि दिल्ली की लाइफ़ लाइन यानी दिल्ली मेट्रो भी आतंकियों के निशाने पर है। दिल्ली मेट्रो पर भी हमला हो सकता है। बता दें लगभग दो साल पहले संसद की एक स्थायी समिति ने दिल्ली मेट्रो पर आतंकी हमले की आशंका जतायी थी।

गृह मंत्रालय से जुड़ी संसद की स्थायी समिति ने दो साल पहले अपनी रिपोर्ट में कहा था कि दिल्ली मेट्रो की सुरक्षा बढ़ाने की सख़्त ज़रूरत है, ताकि किसी भी आतंकी हमले से निपटा जा सके। उस समय समिति ने कहा था की मेट्रो स्टेशनों पर दिल्ली पुलिस की तैनाती को बढ़ाया जाना चाहिए। ताकि स्टेशनों की सुरक्षा और और मज़बूत किया जा सके। आपको बता दें दिल्ली मेट्रो में हर रोज़ लगभग 26 लाख से ज़्यादा लोग सफ़र करते हैं। इस समय दिल्ली मेट्रो की सुरक्षा का ज़िम्मा सीआईएसएफ़ के ज़िम्मे है।