बैंकों से ज्यादा सुरक्षित है पोस्ट अॉफिस में पैसे रखना, जानिए दोनों में क्या है अंतर

अक्सर देखा गया है कि ज्यादातर लोग अपने पैसे को रखने का सबसे सुरक्षित जगह बैंक को समझते हैं। जिनसे उनका पैसा भी सुरक्षित रहे और समय पड़ने पर गांरटेड रिटर्न भी मिले। बैंको में पैसे एफडी, आरडी, सेविंग्स या करंट अकाउंट में हो सकते हैं। लेकिन आए दिन खबर मिलती है बैंकों में चोरी या लूट या फ्रॉड की, इसके बाद बैंक में आपके पैसे सुरक्षित नहीं रहते। क्या आपको पता है कि ऐसी कोई अप्रत्याशित घटना के बाद बैंकों में 1 लाख तक के जमा पर ही सुरक्षा की गारंटी मिलती है।

RBI के नियमों के अनुसार एक व्यक्ति का एक बैंक में एक लाख रूपए ही सुरक्षित माना जाएगा। इससे ज्यादा की राशि सुरक्षा गारंटी के अंतर्गत नहीं आती है।

परंतु एक नया विकल्प ऐसा है जो आपके पैसों पर एक एक पैसे की गारंटी देता है। कोई और नहीं, बल्कि सरकार खुद इस पर गारंटी देती है। वो जगह पोस्ट आफिस है, बता दें कि पोस्ट आफिस स्किम पूरी तरह से सरकार की स्किम है। इस स्किम की खास बात ये है कि इस पर बाजार का प्रभाव नहीं पड़ता बल्कि आपके पैसों पर सरकार द्वारा तय किए गए ब्याज दर ही लागू होते हैं। यह पूर्णतः सरकारी स्किम होती है और इसका निर्णय सरकार के द्वारा ही किया जाता है। तो चलिए आज हम आपको बताते हैं कि ये स्किम क्या है और क्यों आपके पैसे बैंकों से अधिक सेफ  पोस्ट आफिस में हैं।

  • यदि बैंक डिफाल्ट कर जाए- अगर बैंक डिफाल्टर हो जाए तो उस बैंक के प्रत्येक एकाउंट होल्डर्स को एक लाख रूपए तक की जमा राशि पर गारंटी मिलती है। यानी बैंक में आपका एक लाख रूपए से ज्यादा जमा है तो एक लाख से ज्यादा पर कोई सुरक्षा गारंटी नहीं है। और यह नियम बैंकों के हर ब्रांच के लिए लागू होती है।
  • पोस्ट अॉफिस पैसे लौटाने में फेल हो तो- पोस्ट अॉफिस अगर किसी स्थिति में अपने निवेशकों को पैसे लौटाने में नाकाम रहती है तो इसके लिए सरकार खुद आगे आकर आपके पैसों की गारंटी लेगी। इसका मतलब ये कि आपके पैसे फंसने का कोई चांस नहीं है।

  • बैंकों में जमा पैसों का इन कार्यों में होता है इस्तेमाल- बैंकों मेंं जमा पैसों को बैंक अपने अॉपरेशन के लिए काम में लाती है। यानी उन पैसों को आम लोगों को या कॉर्पोरेट कंपनियों को लोन देती है। ऐसे में जब लोग लोन लेकर डिफाल्टर कर जाते हैं तो आपके पैसों की कोई गारंटी नहीं होती, क्योंकि इससे बैंकों का कारोबार घाटे में चला जाता है। मसलन हाल ही में हुए नीरव मोदी द्वारा 12700 करोड़ का फ्राड सामने आया। इससे पूरी बैंकिंग व्यवस्था चरमरा जाती है।
  • पोस्ट अॉफिस में जमा पैसों का इन कार्यों में होता है इस्तेमाल- पोस्ट अॉफिस में अगर आपके पैसे जमा हैं तो उसकी जिम्मेदारी सरकार की होती है। क्योंकि पोस्टल बैंक में जमा पैसों को अधिकतर सरकार अपने कार्यों में लगाती है। इसलिए इन पैसों की जिम्मेदारी सरकार द्वारा ली जाती है।

इसी कड़ी में हाल ही में शुरू हुए इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक में आपका पैसा पूरी तरह से सुरक्षित होगा। क्योंकि यह भारतीय डाक के अंतर्गत आने वाला एक खास बैंक है। यह सौ फीसदी सरकारी है इसलिए यह आपके पैसों को पूरी तरह से सुरक्षित रखने की गारंटी लेता है।

Share this