हिन्दी समाचार, News in Hindi, हिंदी न्यूज़, ताजा समाचार, राशिफल

भोपाल एनकाउंटर : एनकाउंटर में ढेर सिमी आतंकियों का निशाना कहीं पीएम नरेंद्र मोदी तो नहीं थे?

नई दिल्ली – मध्यप्रदेश सरकार ने भोपाल केंद्रीय जेल से 31 अक्टूबर की रात को स्टुडेंट्स इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया (सिमी) के आठ आतंकवादियों के भागने और उसके बाद पुलिस मुठभेड में उनकी मौत की घटना की न्यायिक जांच कराने का आदेश दे दिया है। Bhopal encounter PM Narendra Modi. 

अगर सारे घटनाक्रम पर गौर किया जाए तो ऐसा एक बात जो निकल कर सामने आती है कि कहीं सिमी के आठ आतंकवादियों के भागने के पीछे का मकसद किसी बड़ी घटना को अंजाम देना तो नहीं था।

क्या पीएम मोदी थे सिमी आतंकियों के निशाने पर – 

भोपाल की सेंट्रल जेल से फरार होने और उसके बाद एनकाउंटर में मारे गए सिमी के आठ आतंकियों के बारे में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है कि इनका प्लान किसी तरह से रायपुर पहुंचने की थी।

ऐसा माना जा रहा है कि आतंकियों को नजीराबाद के रास्ते राजगढ़ पहुंचना था, जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक नवंबर को पूर्व निर्धारित दौरा था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौरे से ठीक एक दिन पहले जेल से इस तरह के खुंखार आतंकियों का भाग जाना और भोपाल से भागकर रायपुर की तरफ जाने के प्लान इस आशंका को और मजबुत करता है कि आतंकियों का मकसद रायपुर में किसी बड़ी वारदात को अंजाम देना था।

रायपुर में सिमी का नेटवर्क है काफी मजबूत –

खुलासा हुआ है कि पुलिस एनकाउंटर में मारे गए सिमी के आतंकी शेख मुजीब का रायपुर में गहरी पकड़ थी। रायपुर से ही उसने देश के कई हिस्सों में हुए बम धमाकों के लिए विस्फोटकों की मुहैया कराया था। गौरतलब है कि शेख मुजीब ने फरार सिमी आतंकियों के रहने का इंतजाम रायपुर में ही किया था।

भोपाल एनकाउंटर का ऑडियो…..सबको निपटा दो –

सिमी आतंकियों के एनकाउंटर मामले में एनकाउंटर के दौरान पुलिस अफसरों की अन्य पुलिसकर्मियों से हुई बातचीत होने का दावा करने वाला कथित तौरपर दो ऑडियो टेप सामने आए हैं।

इस ऑडियो में पुलिस अफसरों को आतंकियों को घेरकर खत्म करने के निर्देश देने की बात सुनाई दे रही है।

अंग्रेजी अखबार कि खबर के अनुसार करीब 9 मिनट के ऑडियो में पुलिसकर्मियों को निर्देश दिए जा रहे है कि – उनको जल्दी निपटा दो। आतंकियों के मारे जाने के बाद वायरलेस पर एक दूसरे को बधाई देने और जश्न मनाने की बातें भी सुनाई दे रही हैं।

DMCA.com Protection Status