इतनी सम्पत्ति अपने पीछे छोड़ गए अटल बिहारी वाजपेयी, जानें कौन होगा इसका अधिकारी

जानकारी के अनुसार 93 साल के वाजपेयी पिछले काफ़ी समय से बीमार चल रहे थे। 2009 से ही उनकी हालत काफ़ी ख़राब हो गयी थी और वो व्हीलचेयर पर थे। वाजपेयी की के पिता कृष्ण बिहारी वाजपेयी पेशे से शिक्षक थे और माता कृष्णा घरेलू महिला थी।

अटल जी के परिवार में उनके माता-पिता के साथ ही तीन बड़े भाई अवध बिहारी, सदा बिहारी और प्रेम बिहारी थे। अटल बिहारी की तीन बहनें भी थी। अटल बिहारी के पीर ग्वालियर रियासत में शिक्षक थे। इस वजह से अटल बिहारी की प्रारम्भिक शिक्षा भी ग्वालियर में ही हुई। इन्होंने अपनी प्रारम्भिक शिक्षा ग्वालियर के सरस्वती विद्या मंदिर बाड़ा से की। उनके परिवार के अलावा ग्वालियर में इनके कई रिश्तेदार भी हैं। अटल बिहारी की भांजी कांति मिश्रा और भांजी करुणा शुक्ला है। ग्वालियर में ही अटल बिहारी के भतीजे दीपक मिश्रा और भांजे अनूप मिश्रा भी हैं।

आपको बता दें इनके भांजे अनूप मिश्रा वहाँ सांसद हैं। अटल बिहारी वाजपेयी बचपन से ही काफ़ी परकहर बुद्धि के थे। इन्होंने अपने शुरुआती जीवन में ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को जॉइन कर लिया था। इसके बाद इन्होंने एक स्वयंसेवक के तौर पर अपना पूरा जीवन अविवाहित रहकर बिताने का निर्णय लिया। लेकिन जब वो 1998 में 7 रेसकोर्स पहुँचे तो इनकी दोस्त राजकुमारी क़ौल की बेटी और उनकी दत्तक पुत्री नमिता और उनके पति रंजन भट्टाचार्य वहाँ रहने आए।

राजकुमारी क़ौल के बारे में कहा जाता है कि जब अटल बिहारी वाजपेयी प्रधानमंत्री थे तब क़ौल वाजपेयी के घर की सदस्य थीं। वाजपेयी जी के निधन के बाद उनके सरकारी आवास से जो प्रेस रिलीज़ जारी की गयी थी उसमें उन्हें वाजपेयी के घर का सदस्य बताया गया। साल 2004 के लोकसभा चुनाव में जब अटल बिहारी की तरफ़ से शपथ पत्र जमा किया गया था उसमें उनकी कुछ चल-अचल सम्पत्ति 3099232.41 रुपए थी। वहीं पूर्व प्रधानमंत्री रहने की वजह से उन्हें 20000 मासिक पेंशन और सचिविय सहायता के लिए 6000 का ख़र्च भी दिया जाता था।

अटल जी की चल-अचल संपत्ति के बारे में बात करें तो 2004 के शपथ पत्र के अनुसार अटल जी के नाम पर दिल्ली के ईस्ट ऑफ़ कैलाश में उनके नाम का एक फ़्लैट है, जिसकी उस समय क़ीमत 22 लाख रुपए थी। अटलो जी के पैट्रिक निवास शिंदे छावनी कमल सिंह का बाग़ की क़ीमत 2004 में 6 लाख रुपए थी। इस पत्र के हिसाब से देखा जाए तो अटल जी की कुल सम्पत्ति 2004 में 2800000 रुपए थी। जानकारी के लिए बता दें अभी तक उनकी वासियत सामने नहीं है है। लेकिन भारतीय क़ानून के अनुसार उनकी सम्पत्ति उनकी दत्तक पुत्री नमिता और दामाद रंजन भटाचार्य को मिल सकती है।