दिखने लगे ये लक्षण तो समझ जाइए खराब हो रहा है लीवर, ऐसे कर सकते हैं खराब लीवर की पहचान

वैसे तो मानव शरीर का हर अंग महत्वपूर्ण होता है. पर आज हम जिस महत्वपूर्ण अंग की बात करने जा रहे हैं, वह है लीवर. यह शरीर के अंदर होने वाली लगभग 500 गतिविधियों को नियंत्रित करता है. इसके अलावा शरीर के 30 प्रतिशत खून की आपूर्ति भी यही करता है और 13000 तरह के रसायनों को बनाने में भी मदद करता है. लीवर का एक महत्वपूर्ण काम खून को साफ़ करना और शरीर से विषैले पदार्थों को निकालना भी है. सिर्फ इतना ही नहीं ब्लड शुगर को कंट्रोल करने वाले सारे हारमोंस को भी लीवर ही बनाता और तोड़ता है. क्या आप जानते हैं कि इतने सारे महत्वपूर्ण कामों को संचालित करने वाले लीवर पर आपके खान-पान का भी असर पड़ता है. जी हां, अगर आपका खानपान सही और संतुलित रहेगा तो लीवर भी स्वस्थ रहेगा. व्यक्ति को अपने लीवर का ध्यान अच्छे से रखना चाहिए नहीं तो लीवर खराब होने के चांसेस बढ़ जाते हैं. अब सवाल ये है कि कैसे पता लगाया जाए कि लीवर खराब हो रहा है. दरअसल, जब लीवर खराब होना शुरू होता है तब हमारे शरीर में कुछ लक्षण दिखाई देते हैं. अगर समय रहते इन लक्षणों के बारे में पता लग जाए तो इलाज संभव है, देर करने पर स्थिति बदतर हो सकती है.

लीवर खराब होने के लक्षण

  • वैसे तो पेट में दर्द एक आम समस्या है और यह कई कारणों से हो सकता है. लेकिन यदि आपको अक्सर पेट के उपरी दाहिने हिस्से में दर्द या फिर पसलियों के नीचे दर्द होने लगा है तो समझ जाईये आपका लीवर खतरे में है.
  • यदि पेट में सूजन आने पर पेट बाहर की ओर निकल जाता है तो समझिये आप लीवर सिरोसिस से ग्रसित है. इस स्थिति में पेट में फ्लूइड जमा होने लगता है और आंतों से रक्तस्त्राव होने लगता है. ये लीवर कैंसर के खतरे को भी बढ़ा देता है.

  • यदि आपको त्वचा पर खुजली होने से चकते पड़ने लगते हैं तो समझिये आपके लीवर के साथ कुछ गड़बड़ है. त्वचा की सतह को नम बनाकर रखना चाहिए लेकिन लीवर खराब होगा तो त्वचा पर पाए जाने वाले द्रव्य में कमी आने लगेगी. त्वचा मोटी और खुश्क हो जायेगी जिससे खुजली वाले चकते पड़ने लगेंगें.
  • आंखों का रंग पीला और त्वचा सफेद होने लगे तो समझिये खून में पित्त वर्णक बिलीरुबिन का स्तर बढ़ने लगा है. ये स्तर बढ़ने से शरीर से विषैले पदार्थ बाहर नहीं निकल पाते और लीवर खराब होने का संकेत पीलिया के रूप में दिखाई देता है.

  • यदि आपको आये दिन एसिडिटी और अपच जैसी समस्या रहती है तो ये भी लीवर डैमेज का एक संकेत है. इसमें जी मचलाना और उल्टी जैसे लक्षण सामने आते हैं.
  • यदि आपका वजन बिना मेहनत किये अपने आप तेजी से घट रहा है तो ये एक अच्छा संकेत नहीं है. लीवर खराब होने की वजह से भूख लगभग मर जाती है जिस वजह से वजन में कमी आने लगती है. ऐसा होने पर तुरंत जाकर डॉक्टर से मिलें.
  • कब्ज की शिकायत भी लीवर खराब होने की तरफ इशारा करता है. मल में खून आना और रंग काला हो जाना लीवर खराब होने का संकेत है.

  • पैरों, टखनों और तलुओं में तरल जमा होने पर इन भागों में सूजन आ जाती है. ये लीवर गंभीर रूप से खराब होने का संकेत देते हैं. इस स्थिति में जब आप सूजे हुए भाग को दबायेंगे तो काफी देर तक वह स्थान दबा हुआ ही रहेगा.
  • थोड़ी बहुत थकान तो हर किसी को होती है. लेकिन यदि आपको छोटे-मोटे कामों में भी थकान महसूस होने लगे, चक्कर आने लगे या मांसपेशियां कमजोर महसूस होने लगे तो ये संकेत है कि आपका लीवर पूरी तरह खराब हो चुका है. लीवर खराब होने पर नींद भी ठीक से नहीं आती और कंफ्यूजन की स्थिति पैदा हो जाती है जिस वजह से आपका व्यवहार बदल जाता है.

तो दोस्तों ये कुछ महत्वपूर्ण लक्षण है जो संकेत देते हैं हमारा लीवर खतरे में है. यदि आपको इनमें से कोई लक्षण महसूस होने लगे तो तुरंत जाकर डॉक्टर से मिलें. उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा. पसंद आने पर लाइक और शेयर करना ना भूलें.