अगर आप भी हैं किसी के प्यार में तो ऐसे पहचाने आपका रिलेशनशिप मैच्योर है या नहीं

जब भी कोई नया रिश्ता बनता है, तो उसमें उम्मीद की जाती है कि उस रिश्ते में प्यार हो। दोनों तरफ से रिश्ता सामान तौर पर ही निभाया जाए। जब तक रिश्ते में बैलेंस बना रहता है, तब तक रिश्ता पूरी तरह से ठीक रहता है। इसके लिए जरूरत यह है कि रिश्ते मेें ईमानदारी दोनों तरफ से हो। लेकिन क्या सिर्फ भरोसा ही एक रिश्ते के लिए काफी होता है या कुछ चीजें और भी होती है, जोकि पार्टनर को अपने रिश्ते में चाहिए होता है? जी हां, भरोसे के अलावा मैच्योरिटी भी एक रिश्ते मेंं चाहिए होता है। आप अपने रिश्ते को लेकर मैच्योर हैं या नहीं, ये जानना आपके लिए बहुत जरूरी होता है। तो चलिए जानते हैं कि हमारे इस लेख में आपके लिए क्या खास है?

मैच्योर रिलेशनशिप काफी हद तक आपकी सारी समस्या खत्म कर देता है। यूं तो किसी भी रिश्ते मेंं थोड़ी बहुत नोंक झोंक होती रहती है, लेकिन आपको रिश्ता अगर मैच्योर है, तो ये छोटी मोटी नोंक झोंक बड़ी नहीं बनती है, बल्कि आप अपने हिसाब से इसे पूरी तरह से सुलझा लेते हैं। और पहले जैसा ही आपका रिश्ता हो जाता है। रिलेशनशिप मैच्योरिटी के लिए कोई उम्र नहीं होता है, ऐसे में आपको अपना रिश्ता ऐसा बनाना चाहिए कि उसमें मैच्योरिटी काफी ज्यादा हो। तो चलिए जानते हैं कि आखिर आप यह कैसे पहचान सकते हैं कि आपका रिलेशनशिप मैच्योर है या नहीं।

मैच्योर रिलेशनशिप की पहचान

कहते हैं कि जब कोई इंसान 18+ हो जाता है, तो वो मैच्योर हो जाता है। उसे अपने अच्छे गलत की पहचान हो जाती है, लेकिन मैच्योर रिलेशनशिप में यह उल्टा होता है। यहां उम्र की बंधिश नहीं होती है, बल्कि दो पार्टनर की जरूरत होती है, जोकि एक दूसरे के लिए पूरी तरह से समपर्ति हो। तो चलिए जानते हैं कि मैच्योर रिलेशनशिप के क्या संकेत है।

1. जिस रिश्ते में असुरक्षा की भावना नहीं होती है, वो रिश्ता पूरी तरह से मैच्योर होता है। दरअसल, जब तक पार्टनर एक दूसरे पर भरोसा नहीं करते हैं, तब तक रिश्ता मैच्योर नहीं होता है। ऐसे में अगर आप अपने  पार्टनर पर पूरा भरोसा करते हैं, तो आपका रिश्ता मैच्योर है।

2.मैच्योर रिलेशनशिप में कभी भी पार्टनर एक दूसरे के पास्ट में झांकने की कोशिश नहीं करते हैं। वो अपने पार्टनर के साथ अपना फ्यूचर देखते हैं, न कि उनके पास्ट में झांकने की कोशिश करते हैं। अगर आपके भी रिलेशनशिप में ऐसा है, तो समझिए आपका रिलेशनशिप पूरी तरह से मैच्योर है।

3.रिश्ते में नोंक झोंक चलती रहती है, लेकिन मैच्योर रिलेशनशिप मेंं पार्टनर बिना किसी बड़ी दिक्कत के इस समस्या को सुलझा लेते हैं। यानि अगर आपके बीच मे कोई नोंक झोंक हुई और वो कुछ समय के बाद ही खत्म हो गई या आपने आसानी से हैंडल कर लिया तो समझिए आपका रिश्ता एकदम मैच्योर है।

4.मैच्योर रिलेशनशिप में जब भी लड़ाई होती है, तो पार्टनर अपने बीच किसी तीसरे को नहीं आने देते हैं, बल्कि वो अपनी समस्या खुद ही सुलझा लेते हैं। जबकि जो रिलेशनशिप मैच्योर नहीं होता है, उसमें लड़ाई को खत्म करने के लिए किसी तीसरे की जरूरत पड़ती है। ऐसे में आपका रिलेशनशिप मैच्योर है या नहीं, इससे आप पता लगा सकते हैं।

5.अगर दोनो के बीच काफी समझ है, तो यह इस तरफ इशारा करता है कि आपका रिश्ता पूरी तरह से  मैच्योर है। आप एक दूसरे के लिए हमेशा खड़े रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.