इमरान नहीं सेना की होगी पाकिस्तान में सरकार ‘अब वही होगा जो सेना चाहेगी, भारत की बढ़ी टेंशन’

पाकिस्तान के आम चुनावों की गिनती अभी भी जारी है। अब तक हुई काउटिंग में इमरान खान आगे चल रहे हैं। जानकारों की माने तो इमरान खान ही पाकिस्तान के अगले प्रधानमंत्री होंगे, तो वहीं इमरान को पीएम बनने के लिए गठबंधन का सहारा लेना पड़ेगा। जी हां, किसी भी पार्टी के पास बहुमत आता नहीं दिखाई दे रहा है, ऐसे में इमरान की पार्टी सबसे बड़ी बनकर उभर रही है, ऐसे में इमरान को पीएम पद का ताज पहनने के लिए किसी और का भी सहारा लेना पड़ेगा। देखने वाली बात यह होगी कि आखिर इमरान किसके साथ गठबंधन करना पसंद करेंगे। तो चलिए जानते हैं कि हमारे इस रिपोर्ट में आपके लिए क्या खास है?

इमरान खान की पार्टी तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी 119 सीटोंं पर आगे चल रही है, ऐसे में पाकिस्तान में इमरान के फैन्स काफी खुश नजर आ रहे हैं। क्रिकेटर से राजनेता बने इमरान के लिए भले ही आज का दिन काफी बड़ा हो सकता है, लेकिन भारत की रातोंं की नींद उड़ने वाली है। क्योंकि इमरान की राजनीति से हर कोई अच्छे से वाकिफ है। इमरान खान पाकिस्तान की गलियों में भारत के खिलाफ नफऱत के बीज भी बोते हुए नजर आ चुके हैं। वहीं इन सबके बीच बड़ी खबर यह सामने आ रही है कि पाकिस्तान में इमरान राज नहीं बल्कि सेना राज होगा।

दरअसल, इमरान खान को पाकिस्तानी सेना खूब पसंद करती है। इमरान खान सेना के लिए पोस्टर बॉय है। ऐसे में इमरान का पीएम बनने से मतलब यही है कि अब पाकिस्तान में सेना राज होगा। जानकारों की माने तो अब पाकिस्तान विदेश नीति पर वहीं निर्णय लेगी, जोकि पाकिस्तानी सेना कहेगी। यानि अब सेना के कहने पर ही पाकिस्तान विदेश नीति तय करेगी। इमरान खान पीएम जरूर बनेंगे, लेकिन उनकी चाभी माना जा रहा है कि सेना के हाथों में होगी। ऐसे मे इमरान खान और पाकिस्तान सेना क्या करती है, ये तो वक्त ही बताएगा।

यहां भारत की टेंशन इसलिए बढ़ रही है क्योंकि इमरान खान भारत की दुश्मन खुफिया एजेंसी आईएसआई की पसंद माने जाते हैं, जोकि कई बार भारत पर आंतकी हमला करानेे की साजिश में शामिल रही है, ऐसे में पाकिस्तान औऱ भारत के रिश्ते में और भी ज्यादा दरार देखने को मिल सकती है, क्योंंकि नवाज शरीफ भारत के लिए माना जाता है कि नरम रवैया अपनाते थे, लेकिन अब इमरान, सेना और आईएसआई सब मिल गये हैं, तो भारत की टेंशन बढ़ना लाजमी सी बात है। इतना ही नहीं, नवाज शरीफ के खिलाफ आईएसआई औऱ सेना थी, जिससे यह माना जा रहा था कि सेना के हाथ बांधे हुए हैंं।

बताते चलेंं कि वहीं पाकिस्तान जानकारों की माने तो उनका कहना है कि इमरान की जो ये जीत होगी वो असल में सेना की  जीत होगी, क्योंकि वहां के विरोधियों ने आरोप लगाया था कि इमरान को जीताने के लिए सेना ने वोटिंग में धांधली की है, जिसकी वजह से यह जीत सेना की मानी जाएगी, क्योंकि सेना हर हाल में पाकिस्तान मे इमरान की सरकार जो चाहती है, ताकि उसे अपना काम करने में किसी भी तरह की कोई बाधा न हो। वहीं भारत की टेंशन इसलिए भी बढ़ गई है, क्योंकि इमरान खान भारत को लेकर हमेशा जहर उगलते हुए नजर आएं है, ऐसे में देखने वाली बात यह होगी कि आखिर भारत की तरफ से इसकी क्या तैयारियां की जाएंगी।

Shreya Pandey

Web Journalist

Leave a Reply

Your email address will not be published.

five × one =