पाक को करारा जवाबः भारत ने दागे 5000 मोर्टार, 35 हजार गोलियां – 14 पोस्ट तबाह, राजनाथ ने बुलाई उच्चस्तरीय बैठक

श्रीनगर/नई दिल्ली –  आज एक बार फिर पाकिस्तान कि ओर से सीजफायर का उल्लंघन किया गया और जम्मू-कश्मीर के रामगढ़, अरनिया और नौशेरा सेक्टर में भारी गोलीबारी की गई। जिसका बीएसएफ के जवानों द्वारा मुंहतोड़ जवाब दिया जा रहा है। बीएसएफ ने जवाबी कार्रवाई करते हुए मंगलवार को पाकिस्तान की 14 पोस्ट तबाह कर दिए। बीएसएफ की इस जवाबी से पाकिस्तान को भारी नुकसान होने की खबर है। सेना की जवाबी कार्रवाई में 2 पाकिस्तानी रेंजर्स मारे गए।  BSF destroyed 14 Pakistani Posts. 

राजनाथ ने बुलाई उच्चस्तरीय बैठक –

पाकिस्तान द्वारा सीजफायर के बार-बार उल्लंघन के मद्देनजर अधिकारियों ने जम्मू जिले में सीमा से सटे इलाकों के 174 स्कूलों को बंद करने का आदेश दिया है। भारत की ओर से की गई जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तान की 14 चौकियां तबाह हो गई हैं।

ख़बर है कि संघर्षविराम का बार-बार उल्लंघन किए जाने और नागरिकों की मौत को देखते हुए गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने दिल्ली में उच्चस्तरीय बैठक बुलाई है। इस बैठक में रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवाल और गृह मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी हिस्सा ले रहे हैं।  

पाक को करारा जवाबः भारत ने दागे 5000 मोर्टार, 35 हजार गोलियां –  

पाकिस्तान को उसके दुस्साहस का जवाब देने के लिए भारत ने पिछले ग्यारह दिनों में लंबी दूरी के करीब तीन हजार मोर्टार दागे हैं। इनकी रेंज करीब पांच से छह किमी की होती है। वहीं कम दूरी वाले करीब 2000 मोर्टार भी भारत की ओर से दागे जा चुके हैं। इन मोर्टार की रेंज अधिकतम एक किमी होती है, जिनका इस्तेमाल आतंकियों को खत्म करने के लिए किया गया है। भारत की तरफ से अब तक एलएमजी, एमएमजी, राइफल से करीब 35 हजार गोलियां चलाई जा चुकी हैं।

आतंकियों से भी मुठभेड़ जारी –

पाकिस्तानी सैनिकों की नापाक बंदूकें बेलगाम हो गई हैं, रोज युद्धविराम टूट रहा है और हैरत की बात ये है कि भारतीय फौज से दुगनी चोट खाने के बाद भी पाकिस्तान की नापाक हरकतें बंद होने का नाम नहीं ले रहीं है। पाकिस्तानी सैनिकों की ना पाक हरकते तो चल ही रही हैं, साथ ही दहशतगर्दों की घुसपैठ लगातार जारी है। ख़बर है कि बांदीपुरा के अजार गांव में आतंकियों से सेना की मुठभेड़ चल रही है। आज सुबह ही अजार गांव को खाली करा लिया गया था। माना जा रहा है कि इस गांव में लश्कर के दो से तीन आतंकी छिपे हुए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.