पाकिस्तानी सीजफायर में देश का एक और जवान शहीद; क्या अब पाकिस्तान से युद्ध ही है एक मात्र विकल्प?

श्रीनगर/नई दिल्ली: पाकिस्तान की ओर से सोमवार को एलओसी पर पुंछ और रजौरी जिलों में लगातार फायरिंग जारी है। पाकिस्तानी सैनिकों ने सोमवार को जम्मू-कश्मीर के पुंछ और रजौरी जिलों में नियंत्रण रेखा पर गोलियां एवं गोले बरसाकर सीजफायर का उल्लंघन किया है। इस हमले में सेना का एक जवान शहीद हो गया। J & K army Jawan Dead in ceasefire.

प्राप्त ख़बर के अनुसार, पाकिस्तान के सीजफायर का जवाब देते हुए रजौरी में सेना का एक जवान शहीद हो गया है। इस फायरिंग में सेना के दो जवान घायल भी हो गए हैं।

 

ऑटोमैटिक हथियारों से की फायरिंग –

सेना के एक अधिकारी ने बताया कि, सोमवार सुबह से ही जम्मू-कश्मीर के मेंढर के बालाकोट और मनकोट इलाके में पाकिस्तान ने सीजफायर का उल्लंघन किया। इस बार ना पाक पाकिस्तानी सैनिकों ने मोर्टार के गोले और स्वचालित हथियार हमारी पोस्ट और नागरिक के रहने वाले क्षेत्रों में फेंके।

गौरतलब है कि आर एस पुरा में सीमा से सटे ज्यादातर गांवों के नागरिको के पहले ही सुरक्षित जगहों पर पहुचाँया जा चुका था लेकिन जो नहीं गए वो फायरिंग की दहशत के बीच ही गांव में रह रहे हैं।

 

भारतीय सेना की ओर से मुंहतोड़ जवाब –

सेना के एक अधिकारी ने बताया कि, भारतीय सैनिक इस गोलीबारी का उचित एवं करारे ढंग से जवाब दे रहे हैं। भारतीय सेना ने पाकिस्तान की तरफ से हुई फायरिंग का भी मुंहतोड़ जवाब दिया। हालांकि, रात करीब 08.30 बजे के बाद किसी तरह की फायरिंग की खबर नहीं है।

हीरानगर में भी संदिग्ध गतिविधियां देखे जाने पर करीब 07.30 बजे भारत की तरफ से कुछ देर फायरिंग की गई थी। ऐसा माना जे रहा है कि पाकिस्तान कि तरफ से यह फायरिंग आतंकवादी गतिविधियों को छिपाने के लिए कि गई।

इन हमलों में अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास स्थित सांबा, कठुआ और जम्मू जिलों को निशाना बनाया गया, जिसके कारण बीएसएफ को जवाबी कार्रवाई करनी पड़ी।

 

अब तक 8 जवान शहीद

पाक अधिकृत कश्मीर में आतंकी ठिकानों के खिलाफ भारतीय सेना द्वारा किए गए सर्जिकल हमलों के बाद से अब तक नियंत्रण रेखा और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तानी सैनिकों की ओर से 60 से ज्यादा संघर्षविराम उल्लंघन किया जा चुका है।  

आपको बता दे कि सीमापार से घुसपैठ रोकते हुए अब तक 8 भारतीय जवान (आर्मी के 4-बीएसएफ के 4) शहीद हो चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.