जानिए गुरुवार को पीले कपड़े पहनने के पीछे की वजह, बॉलीवुड भी मानता है इसको

आप लोगों ने इस बात पर गौर किया होगा कि आपके आस-पास बहुत से व्यक्ति गुरुवार के दिन पीले रंग के वस्त्र पहनते हैं भारतीय संस्कृति में पीले रंग के कपड़े पहनने का रिवाज काफी पुराने समय से ही चला आ रहा है कई घरों में तो गुरुवार के दिन पीले रंग का भोजन भी किया जाता है क्या आपको पता है इस पीले रंग के पीछे का कारण, शायद कोई व्यक्ति होगा जो इसके पीछे की वजह जानता होगा आज हम आपको इस लेख के माध्यम से गुरुवार को पीले कपड़े पहनने के पीछे का कारण क्या है इसकी जानकारी देने वाले हैं।

गुरुवार के दिन पीले रंग के वस्त्रों का धारण करने की मान्यता काफी पुराने समय से ही चली आ रही है जो आजकल के समय में भी जारी है इसका अर्थ यह है कि व्यक्ति पुरानी मान्यता को अभी भी अपना रहे हैं इसको छोड़ नहीं पाए है पीला रंग सादगी और निर्मलता का प्रतीक माना गया है जिसकी वजह से हिंदू धर्म में इस रंग के कपड़े पहनने की विशेष तौर पर रीत मानी जाती है।

पीला रंग भगवान विष्णु को है प्रिय

पीले रंग को बहुत ही शुभ माना गया है और पीला रंग भगवान विष्णु जी का सबसे प्रिय रंग होता है पीला रंग साईं बाबा को भी बहुत ज्यादा प्रिय है इसी वजह से गुरुवार को साईं बाबा की पूजा करने वाले व्यक्ति पीले रंग के वस्त्रों का धारण करते हैं और पीले रंग का ही भोजन ग्रहण करते हैं।

बॉलीवुड भी मानता है इसको

पीले रंग की मान्यता को बॉलीवुड के सेलिब्रिटी भी मानते हैं तभी तो यह गुरुवार के दिन पीले वस्त्रों का धारण किए हुए नजर आ जाते हैं बहुत बार दीपिका पादुकोण से लेकर ऐश्वर्या राय बच्चन तक पीले रंग की साड़ी में दिखाई दे चुकी है ऐसा भी हो सकता है की यह लोग पीले रंग के कपड़े फैशन के लिए पहनते हो परंतु आप यह नहीं भूल सकते कि झूठे मान्यताओं और अंधविश्वास को जोड़ बॉलीवुड में ही सबसे ज्यादा देखा जाता है तभी तो ऐश्वर्या राय ने अभिषेक बच्चन से विवाह करने से पहले एक पेड़ से विवाह किया था।

भगवान विष्णु जी की कृपा प्राप्ति के लिए

अगर हम ज्योतिष शास्त्र के अनुसार देखें तो पीले रंगों के वस्त्रों को पहनने से भगवान विष्णु जी की कृपा प्राप्त होती है हिंदू शास्त्र में बृहस्पति को शुभ ग्रह माना गया है और इस ग्रह का आकार सभी ग्रहों से बड़ा है इसीलिए इसको गुरु ग्रह कहा जाता है बृहस्पति को भगवान विष्णु जी का ही रूप माना जाता है और भगवान विष्णु जी का सबसे प्रिय रंग पीला है जिसकी वजह से गुरुवार को भगवान विष्णु जी की पूजा के लिए पीले रंग के कपड़े पहनने का रिवाज माना गया है भगवान विष्णु जी को पीला रंग प्रिय है इसलिए इस दिन पीले रंग के वस्त्र धारण किए जाते हैं।

आखिर क्यों है पीले रंग की मान्यता

प्रसिद्ध रंग विशेषज्ञ भी पीले रंग के कपड़े पहनने को दिमाग की शांति से जोड़कर देखते हैं विशेषज्ञों का मानना है कि जैसा हम खाना खाते हैं वैसा ही हमारा शरीर होता है इसी प्रकार जैसे हम कपड़े पहनते हैं ठीक उसी तरह हमारी पर्सनैलिटी होती है पीले रंग को कर्मठता तत्परता और उत्तरदायित्व निभाने वाला और भावुक रंग माना गया है इसी कारण पीले रंग के कपड़े पहनने की मान्यता हिंदू धर्म में काफी पुराने समय से चली आ रही है।

फेंगशुई में भी पीला रंग है महत्वपूर्ण

जिस प्रकार हिंदू धर्म में पीले रंग को बहुत शुभ माना गया है ठीक उसी प्रकार फेंगशुई में भी पीले रंग को आत्मिक रंग यानी कि आत्मा या अध्यात्म से जुड़ने वाला रंग कहा गया है फेंगशुई का सिद्धांत ऊर्जा पर आधारित होता है और पूरे संसार को ऊर्जा सूरज से प्राप्त होती है जो पीले रंग का होता है इसलिए पीले रंग को सूर्य के प्रकाश यानी ऊष्मा शक्ति का प्रतीक माना गया है ऐसी मान्यता है कि जिंदगी में संतुलन और पूर्णता और एकाग्रता प्रदान करने के लिए पीले रंगों के वस्त्रों का धारण करना चाहिए यदि इस रंग के वस्त्र पहने जाएं तो जिंदगी में उमंग और ख़ास परिवर्तन आते हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.