मां लक्ष्मी की कृपा चाहते हैं तो 30 अप्रैल की सुबह कर लीजिए ये उपाय, होने लगेगी धन वर्षा

हिंदू धर्म में पूर्णिमा का विशेष महत्व है, क्योंकि इसे मां लक्ष्मी और भगवान विष्णु का दिन माना जाता है, वहीं वैशाख माह की पूर्णिमा को और भी खास माना गया है क्योंकि ये भगवान बुद्ध के अवतरण का दिन है, भगवान बुद्ध विष्णु के दसावतार में 9वां माने जाते हैं। ऐसे में बुद्ध पूर्णिमा का दिन अपने आप में बेहद शुभ दिन है और अगर इस दिन कछ विशेष उपाय किए जाए तो पूरा साल सुख-शांति के साथ बितता और घर-परिवार की सुख-समृद्धी बनी रहती है। इस वर्ष 30 अप्रैल को बुद्ध पूर्णिमा हैऐसे में आज हम आपको इस दिन जाने योग्य एक ऐसे उपाय के बारे में बताने जा रहे हैं जिससे मां लक्ष्मी की विशेष कृपा प्राप्त होती है..

वैसे ज्योतिष में बुद्धपूर्णिमा के किए जाने योग्य कई सारे ऐसे उपाय बताए गए हैं, जिनसे करने से घर में देवी लक्ष्मी का आगमन होता है। पर आज हम आपको जो उपाय बताने जा रहे हैं वो सबसे सरल और अचूक उपाय के बारे में बताने जा रहे हैं। वैसे इस उपाय के बारे में बताने से पहले आपको ये बता दें कि पूर्णिमा का दिन मानव के लिए स्वयं जागृति और सौभाग्य प्राप्ति का है, ऐसे में इस दिन विशेष सावधानी बरतनी चाहिए क्योंकि इस दिन अगर थोड़ी भी चूक होती है तो इससे मां लक्ष्मी नाराज हो सकती है। इसलिए इस दिन स्वच्छता और शुभता का विशेष ध्यान रखना चाहिए और मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त करने के लिए उनकी पूजा-अर्चना करनी चाहिए। तो चलिए अब जानते हैं उस विशेष उपाय के बारे में जिस बुद्ध पूर्णिमा के दिन करने से मां लक्ष्मी को प्रसन्न किया जा सकता है।
बुद्ध पूर्णिमा के दिन करें ये काम

सबसे पहले बुद्ध पूर्णिमा के दिन सुबह जल्दी उठे और जगकर घर की सही तरीके से साफ-सफाई करें, खासकर घर के मुख्यद्वार और घर के बाहर की जगह को भी अच्छे से साफ करें, क्योंकि माना जाता है कि देवी लक्ष्मी यहीं से घर-आंगन में प्रवेश करती हैं। इसके बादस्नान आदि दैनिक क्रिया से निवृत होकर कर साफ कपड़े पहनें लें इसके बाद एक साफ कटोरी में थोड़ी सी हल्दी लें और उसमें थोड़ा ताजा-स्वच्छ पानी मिलाकर घोल बना लें। फिर इसी घोल से घर के मुख्य दरवाजे पर एक स्वस्तिक बनाएं और पर कुंकुम-चावल चढ़ाएं। ऐसा कर आप मां लक्ष्मी का घर में प्रवेश के लिए आमंत्रण देते हैं और देवी लक्ष्मी के आगमन से आपके घर-आंगन में खुशियां आती हैं।

इसके बाद मां लक्ष्मी की विधिवत पूजा-अर्चना करें, धूप-अगरबत्ती जलाए और श्रीसूक्त या लक्ष्मी सूक्त का पाठ करें, साथ ही माता लक्ष्मी को साबूदाने की खीर बनाकर भोग चढ़ाएं। वहीं कोशिश करें घर में पूरे दिन सुंगधित अगरबत्ती आदि का धुआं जलते रहे।

इस तरह सुबह की शुरूवात देवी लक्ष्मी की पूजा-अर्चना के साथ करने के साथ इस दिन पूर समय घर में सात्विक माहौल होना चाहिए, घर में किसी तरह की कलह ना हो । वहीं इस दिन दान-पुण्य का भी विशेष महत्व है इसलिए अपनी यथाशक्ति गरीबों और जरूरतमंदो को दान करे और कोशिश करे कि इस दिन कोई भी याचक आपके दरवाजे खाली हाथ ना लौटे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.