सनी लियॉन ने अपनी बेटी को जैकेट में छिपा कर लिखी पोस्ट, पढ़ कर आपकी आँखें भी नम हो जाएगी!

जब 8 साल की मासूम जंगल के लिए घर से बाहर निकली थी उसके मां-बाप ने आखिरी बार उसे जिंदा देखा था. परंतु उनकी बेटी के साथ इतना बुरा होने वाला था यह उन्होंने सपने में भी नहीं सोचा था. अगली बार जब उनका सामना उनकी बेटी से हुआ तो उसकी हालत ऐसी थी कि पत्थर दिल इंसान की भी रूह कांप उठे. इतनी छोटी उम्र की बच्ची को भेड़ियों ने मंदिर जैसी पवित्र जगह पर नोच खाया था. यहां तक कि इस घटना में हमारे समाज का अंधा कानून भी शामिल था. एक सर्वे के अनुसार साल 2016 में भारत देश में महिलाओं के बलात्कार के कुल 38,947 मामले सामने आए थे. इसके अनुसार लगातार हर रोज 107 महिलाओं का रेप हुआ था. ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा कि हमारे भारत देश में अब ना तो महिलाएं सुरक्षित है और ना ही मासूम बच्चियां.

sunny leone

लड़कियों के घर से बाहर निकलते ही गंदे लोगों की कईं नजरें उन्हें अपनी हवस का शिकार बना लेती हैं. ऐसे में हर मां बाप को अपनी बेटी की चिंता होने लगी है. बॉलीवुड की मशहूर एक्ट्रेस सनी लियोन ने भी इस माहौल में अपनी बेटी की सुरक्षा के लिए एक इमोशनल मैसेज लिखा है. यह मैसेज इन दिनों सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है इसे पढ़कर आपकी आंखें भी नम हो जाएंगी.

इन दिनों सन्नी लियोन और उनकी बेटी निशा की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रही है. इस तस्वीर में सनी लियोन अपनी बेटी निशा को जैकेट में छुपाती हुई नजर आ रही है. तस्वीर के कैप्शन में सनी ने लिखा कि, ” मैं तहे दिल से तुमसे वादा करती हूं कि इस दुनिया की सभी बुरी चीजों और गंदे लोगों से तुम्हारी रक्षा करूंगी. अगर इसके चलते मुझे अपनी जान से भी हाथ धोना पड़े तो मुझे इसकी परवाह नहीं. सनी ने लिखा कि अब दुनिया की हर बेटी को दरिंदों से बचाकर रखने के लिए उन्हें अपनी बाहों में कस कर थामने और उनकी रक्षा करने का जिम्मा उठा ले”.

सनी लियोन के इलावा भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने भी कठुआ में हुए 8 साल की बच्ची के साथ बलात्कार पर आवाज़ उठाते हुए एक वीडियो मैसेज दिया. इस मैसेज में विराट ने कहा कि, ” मुझे शर्म आती है कि मैं ऐसी सोसाइटी और ऐसे भारत का हिस्सा हूं जहां बेटियों को धर्म के नाम पर भूख मिटाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है”.

मशहूर टेनिस प्लेयर सानिया मिर्जा ने कठुआ रेप केस का विरोध करते हुए लिखा कि, ” क्या हम ऐसे देश और दुनिया में नाम बनना चाहते हैं जहां हमारी बेटियां ही सुरक्षित नहीं हैं? अगर आज हम जेंडर जाति रंग और धर्म से परे इस 8 साल की बच्ची के साथ खड़े नहीं हो सकते तो हम कभी भी किसी चीज के विरोध के लिए खड़े नहीं हो पाएंगे. इंसानियत मरती जा रही है और यह खबर मुझे बीमार बना रही है”.

बॉलीवुड के अभिनेता रितेश देशमुख ने अपनी पोस्ट में लिखा कि, ” 8 साल की मासूम बच्ची को ड्रग्स देकर रेप कर दिया गया और उसकी हत्या कर दी गई वहीं दूसरी ओर एक महिला अपने लिए पुलिस थाने में पिता की मौत के लिए न्याय मांग रही है. ऐसे में हमारे पास दो ही ऑप्शन है या तो आवाज़ उठाएं या फिर हम गूंगे बने रहे. सही का साथ दें और स्टैंड ले चाहे इसके लिए हमें अकेले ही क्यों ना खड़ा होना पड़े”.

फेमस एक्टर कम डायरेक्टर फरहान अख्तर ने कठुआ रेप केस पर लिखा कि, “जरा सोचिए उस 8 साल की बच्ची के दिमाग में उस वक्त क्या बीती होगी जब उसे नशीली दवा देकर बांधकर इतने दिन तक बलात्कार किया गया और आखिरकार उसे मार दिया गया. अगर आप उस मासूम की दहशत और दर्द को महसूस नहीं कर सकते तो आप एक इंसान नहीं है. अगर आप आज उसके लिए खड़े होकर न्याय नहीं मांग सकते तो आप कुछ भी नहीं है”