विशेष

स्कूल लेट आने की इस छात्रा ने बताई ऐसी वजह की टीचर के होश उड़ गये

देशभर में इन दिनों महिलाओं के खिलाफ अपराध बढ़ते जा रहे हैं।  इतने सारे मुहिम चलाने के बावजूद देश में आज भी महिलाएं न तो अपने घर में सुऱक्षित है और घर से बाहर तो सुरक्षा कैसी है, ये आपसे बेहतर कौन जान सकता है, ऐसे में आपको हर समय सतर्क रहने की जरूरत है, क्योंकि आपकी अपनी सतर्कता ही आपको इस अपराध का शिकार होने से बचा सकती है। आज हम आपको एक ऐसी घटना से रूबरू कराने जा रहे हैं, जिसको जानकर आपके होश उड़ जाएंगे। तो चलिए जानते हैं कि हमारे इस रिपोर्ट में क्या खास है?

मामला यूपी के दादरी का है। जहां एक मासूम सी बच्ची को अपने हवस का शिकार बनाया गया है, जिसको लेकर अब पुलिस में रिपोर्ट हुआ है। यह मामला टीचर के समझदारी की वजह से यह मामला सामने आया। बता दें कि छात्रा दूसरी क्लास में पढ़ती है, ऐसे में वो जब लगातार स्कूल नहीं आ रही थी, तो टीचर ने घर से संपर्क किया तो उसकी चाची ने बताया कि उसके साथ घर में ही रहने वाले एक लड़के ने रेप किया, जिसकी वजह से बच्ची स्कूल नहीं आ पा रही थी, ऐसे में यह मामला बहुत ही ज्यादा संवेदनशील बनता जा रहा है। बच्ची को अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उसका इलाज चल रहा है, तो वहीं दूसरी तरफ पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर लिया है।

आपको बता दें कि आरोपी युवक लगातार कई दिनों से बच्ची के साथ रेप करता रहा है, ऐसे में बच्ची की हालत नाजुक होती जा रही है। जब बच्ची से टीचर ने पूछा तो उसने रोते हुए सारी आपबीती बताई तो टीचर ने तुंरत बच्ची को पुलिस स्टेशन लेकर गया, जहां उसका बयान दर्ज किया गया है, ऐसे में अब पुलिस मामले की तब्दीश कर रही है, तो उधर बच्ची की हालत दिन ब दिन नाजुक होती जा रही है। बच्ची के स्कूल न आने की वजह से टीचर का यह कदम काफी मददगार साबित हुआ, इस तरह से हर किसी को चौकन्ना रहना चाहिए।

पीड़िता के अभिभावकों का कहना है कि आरोपी युवक नशे का आदी है। वो हर समय नशा करता है, ऐसे में नशा करना उसकी आदत। माना जा रहा है कि युवक ने नशे में ऐसी हरकते की है, लेकिन एक मासूम की जिंदगी बिगाड़ने का क्या हक है? बता दें कि पीड़िता के होश में आने के बाद पुलिस रिपोर्ट दर्ज करके आरोपी युवक को गिरफ्तार कर सकती है।

बहरहाल, इस तरह के मामले सबको झकझोंर के रख देते हैं, लेकिन यहां न्याय के लिए आवाज उठाना बहुत जरूरी है, ऐसे में अब बच्चियों के साथ इस तरह की हरकतों को अंजाम देने वाले लोगों को कतई नहीं छोड़ना चाहिए, इनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए। बता दें कि बच्ची की उम्र सिर्फ अभी आठ साल है।

Related Articles

Close