अखिलेश का राहुल को नसीहत ‘साथ चाहिए तो निभाएं गठबंधन धर्म’

यूपी विधानसभा चुनाव में राहुल और अखिलेश ने एक साथ मिलकर चुनाव लड़ा था, ऐसे  में एक बार फिर से लोकसभा की तैयारियां शुरू हो चुकी है, जिसकी वजह से पुरानी दोस्ती को नया ताजा करने के फिराक में दोनों है, लेकिन अखिलेश ने राहुल को बड़ी नसीहत दे दी। जी हां, अखिलेश ने राहुल को एक बड़ी नसीहत दी है, जिसको लेकर राहुल जल्द ही अखिलेश से बात भी कर सकते हैं। तो आइये  जानते हैं कि हमारे इस रिपोर्ट में क्या खास है?

समाजवादी पार्टी  के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने गठंबधन को लेकर राहुल को बड़ी सलाह दी है। अखिलेश ने कहा कि अगर आप हमारा साथ चाहते हैं, तो इसके लिए आपको गठबंधन के रिश्ते को फॉलो करना पड़ेगा, वरना ऐसे काम नहीं चलेगा। बता दें कि अखिलेश ने एक टीवी चैनल से बात करते हुए कहा कि बसपा और सपा एक साथ 2019 का चुनाव लड़ेगी, ऐसे में अगर कांग्रेस हमारे साथ आना चाहती है, तो हमें कोई दिक्कत नहीं, क्योंकि हम समाजवादी हर किसी को साथ देने में खुश रहते हैं, ऐसे में हमारा काम ही एकजुट होना है। हालांकि, इसके लिए अखिलेश ने राहुल को बड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि गठबंधन का भी धर्म होता है, जिसे राहुल को निभाना चाहिए।

गौरतलब है कि उपचुनाव में कांग्रेस ने किसी भी पार्टी से कोई सलाह नहीं लिया था, जिसकी वजह से वो अकेले ही चुनाव लड़ी थी, ऐसे में अब अखिलेश ने उपचुनाव का हवाला देते हुए कहा कि कांग्रेस ने हमसे बात नहीं की थी, जिसकी वजह से वो खुद हीृ यहां से अलग थलग होना चाहते हैं, लेकिन मैं उनसे कहने चाहूंगा कि अगर वो वाकई 2019 में सपा और बसपा का साथ चाहते हैं, तो अब से गठबंधन धर्म निभाएं, वरना रास्ते अलग हो सकते हैं। इसके साथ ही अखिलेश ने कहा कि उनका राहुल के साथ रिश्ता काफी अच्छा है, लेकिन साथ आने के लिए साथ निभाना जरूरी है।

बहरहाल, अब देखने वाली बात यह होगी कि क्या राहुल गांधी अखिलेश के इस बात पर गौर करते हैं या नहीं, ये तो वक्त ही बताएगा। अगर अखिलेश के साथ राहुल गांधी आते हैं, तो क्या 2019 में बसपा, सपा और कांग्रेस एक साथ मिलकर यूपी से बीजेपी को बाहर फेंकने में सफल हो पाती है या नहीं, ये तो खैर वक्त ही बताएगा, लेकिन ये मुकाबला देखने में काफी दिलचस्प होने वाला है। हालांकि, फिलहाल बीजेपी काफी मजबूत स्थिति में यूपी में है, ऐसे में यूपी से उसको बाहर निकालना मुश्किल लग रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.