वास्तुशास्त्र में बताई गई आइने से जुड़ी इन 6 बातो के बारे में जरूर जान लें, वरना हो जाएंगे कंगाल

वास्तु शास्त्र के बारे में तो आपने सुना ही होगा। बता दें कि वास्तु शास्त्र हमारे देश की प्राचीनतम विद्याओं में से एक है जिसका संबंध दिशाओं और ऊर्जाओं से है। कहा जाता है कि वास्तु शास्त्र हमारे जीवन को बेहतर बनाने अथवा कुछ गलत चीजों से हमारी रक्षा करने में मदद करता है। हमारे घर में रखी प्रत्येक वस्तु का संबंध वास्तु शास्त्र से होता है। वास्तु शास्त्र में घर की वस्तुओं के लिए सही-गलत जगहें बताई गई हैं, जिनमें से एक वस्तु है आइना। आइने का इस्तेमाल तो लगभग सभी घरों में किया जाता है शायद ही कोई ऐसा घर होगा जिसमें आइने का प्रयोग ना होता हो। बता दें कि वास्तुशास्त्र में आइना एक बड़ी अहम भूमिका निभाता है अगर इसका प्रयोग सही तरीके से ना किया जाए तो यह आपके लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है। आज हम आपको वास्तु शास्त्र के अनुसार बता रहे हैं कि घर में आइना कहां लगाना चाहिए और कहां नहीं।

1. वास्तु शास्त्र में बताया गया है कि घर में ईशान कोण यानी उत्तर-पूर्व दिशा में दर्पण लगाना चाहिए। आइना लगाने के लिए यह सबसे उत्तम दिशा मानी गई है। इस छोटी सी बात का ध्यान रखने से धन में वृद्धि होती हैं। इस दिशा में दर्पण लगाने से व्यापार में घाटे अौर आर्थिक नुक्सान से मुक्ति मिलती है।

2. वास्तुशस्त्र में कुछ ऐसी दिशाएं भी बताई गई है जो आइना लगाने के लिए सही नहीं है और वह दिशा है दक्षिण, पश्चिम, आग्नेय (दक्षिण-पूर्व दिशा), वायव्य (उत्तर-पश्चिम दिशा) और नैऋत्य (दक्षिण-पश्चिम दिशा)। अगर आप बताई गई इन दिशाओं में दर्पण लगाते है तो घर में नकारात्मक ऊर्जा फैलती है जो ग्रह क्लश का भी कारण बनती है। इसके अलावा नुकीले व तेजधार वाले दर्पण लगाने से भी बचना चाहियें ये हानिकारक होते है।

3. आईने के अंदर सौभाग्य, धन, वैभव और खुशहाली को आकर्षित करने की ताकत होती है। लेकिन अगर आपने गलत दिशा में दर्पण लगा दिया तो इसका प्रतिकूल प्रभाव भी पड़ सकता है।

4. भूलकर भी अपने घर के प्रवेश द्वार के सामने आइना न लगाएं क्योंकि यह घर के भीतर की सारी सकारात्मक ऊर्जा अपने अंदर खींच लेता है। माना जाता है कि घर में ऊर्जा का आगमन प्रवेश द्वार से ही होता है इसलिए प्रवेश द्वार के सामने आइना नहीं लगाना चाहिए इसके अलावा कमरे में दरवाजे के अंदर की ओर भी दर्पण नहीं लगाना चाहिए।

5. बेडरुम में बिस्तर के ठीक सामने आइना लगाना अशुभ माना जाता है। यह पति पत्नी के वैवाहक जीवन को खतरे में डाल सकता है। इससे दांपत्य जीवन में विश्वास की कमी आती है। इसके साथ ही पति-पत्नी में आपसी मतभेद भी बढ़ता है जिसके कारण तलाक भी हो सकता है। इसके अलावा यह बेडरूम में बिस्तर के ठीक सामने आईना लगाने से पति-पत्नी के सम्बन्धों के बीच किसी तीसरे व्यक्ति का प्रवेश भी हो सकता है।

6. एक बात का खास ध्यान रखें कि रात को सोते समय आपके शरीर का कोई भी अंग शीशे में दिखाई न दें। इससे आपको स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां झेलनी पड़ सकती हैं। अगर आपने अपने बेडरुम में आइना लगाया है तो यह सुनिश्चित कर लें कि सोते समय उसमें आपके शरीर का कोई अंग दिखाई नहीं देता हो अगर आपके शरीर का कोई अंग दिखाई दे तो या तो आईने की जगह बदल कर कहीं और लगा दे या फिर रात को सोते समय आईने को ढ़क दें।