अध्यात्म

शुक्रवार को करें ये उपाय, भगवान शिव दूर करेंगे शारीरिक दुर्बलता और पूरी करेंगे हर इच्छा

हिन्दू धर्म में कई देवी-देवताओं की पूजा की जाती है। हिन्दू धर्म में त्रिदेवों को महत्वपूर्ण स्थान प्राप्त है। त्रिदेवों में ब्रह्मा, विष्णु और महेश हैं। महेश यानी भगवान शिव। भगवान शिव को भोलेनाथ के नाम से भी जाना जाता है। भोलेनाथ इन्हें इसलिए कहा जाता है क्योंकि ये अत्यंत हो भोले हैं। ये अपने भक्तों पर हमेशा अपनी कृपादृष्टि बनाए रखते हैं। जो भी भगवान शिव की सच्चे मन से आराधना करता है, उसके जीवन में किसी भी तरह की परेशानी नहीं आती है।

भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए भक्त अगर सच्चे मन से एक लोटा जल ही अर्पित कर देता है तो इसका बहुत ज्यादा फक मिलता है। वैसे तो भगवान शिव की किसी भी दिन पूजा की जा सकती है, लेकिन कुछ खास मौकों पर भगवान शिव की पूजा करने पर विशेष फल मिलता है। इन्ही में से एक खास मौका होता प्रदोष व्रत का। आपको बता दें इस बार 13 अप्रैल शुक्रवार को वैशाख मास के कृष्णपक्ष की त्रयोदशी पड़ रही है। इस दिन भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए प्रदोष व्रत किया जाता है।

ज्योतिषाचार्य मनीष शर्मा के अनुसार इस दिन कुछ विशेष उपाय करने से व्यक्ति के ऊपर भगवान शिव की हमेशा कृपा बनी रहती है। शिवपुराण में भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए कई उपाय बताये गए हैं। शिवपुराण के अनुसार कुछ आसान उपाय है, जिन्हें प्रदोष व्रत पर करने से भक्त की हर इच्छा पूरी हो जाती है।

भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए करें ये उपाय:

*- शिवपुराण के अनुसार भगवान शिव को प्रसन्न करके शारीरिक दुर्बलता से मुक्ति पाने के लिए भगवान शिव को गाय के शुद्ध देशी घी से अभिषेक करें।

*- अगर आप चाहते हैं कि आपका दिमाग भी तेज हो और आप जीवन के हर क्षेत्र में सफलता पायें तो भगवान शिव को शक्कर मिला हुआ दूध अर्पित करें।

*- शिवपुराण के अनुसार अगर कोई व्यक्ति शिवलिंग पर गन्ने का रस चढ़ाता है तो उसे संसार के समस्त सुखों की प्राप्ति होती है।

*- शिवपुराण के अनुसार जो व्यक्ति शिवलिंग का अभिषेक गंगाजल से करता है उसे जीवन में भोग और मोक्ष दोनों की प्राप्ति होती है।

*- टीबी के रोगियों को भगवान शिव का शहद से अभिषेक करना चाहिए, जल्दी ही उन्हें टीबी से राहत मिलती है।

*- अगर कोई व्यक्ति बुखार से तप रहा है तो उसे शिवलिंग पर जल चढ़ाना चाहिए। इससे व्यक्ति को बुखार में तुरंत राहत मिलता है। इसके साथ ही सुख और संतान की वृद्धि में भी फायदा मिलता है।

*- अगर व्यक्ति जीवन में गरीबी से परेशान है तो उसे भगवान शिव को चावल चढ़ाना चाहिए। इससे व्यक्ति की गरीबी दूर हो जाती है।

*- शिवपुराण के अनुसार भगवान को तिल चढ़ाने से उसके समस्त पापों का नाश हो जाता है।

*- जो व्यक्ति भगवान शिव को जौ अर्पित करता है, उसके सुख-समृद्धि में वृद्धि होती है।

*- भगवान शिव को गेंहू चढ़ाने से संतान में वृद्धि होती है।

Related Articles

Close