शाह ने लगाई योगी की क्लास ‘एक महीने के अंदर रिपोर्ट सुधारने का आदेश’

बुधवार को अमित शाह यूपी के दौरे पर थे। जी हां, इस दौरान अमित शाह ने योगी सरकार को जमकर फटकार लगाई। अमित शाह योगी सरकार के कामकाज से नाखुश नजर आएं, जिसके लिए एक महीने का अल्टीमेटम दिया है। बता दें कि यूपी बीजेपी हालत ठीक नहीं है, ऐसे में अमित शाह ने इसकी पूरी जिम्मेदारी योगी सरकार को दिया है। योगी सरकार को अमित शाह ने यूपी बीजेपी में सबकुछ ठीक करने का आदेश दिया है। साथ ही बागी विधायकों को भी एक साथ लाने का आदेश भी दिया है। तो चलिए जानते हैं कि हमारे इस रिपोर्ट में क्या खास है?

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह योगी सरकार के कामकाज से जरा भी खुश नजर नहीं आएं, यही वजह है कि उन्होंने सीएम योगी को एक महीने के अंदर रिपोर्ट कार्ड सुधारने का आदेश दिया है। साथ ही योगी को सख्त निर्देश दिया है कि यूपी में बीजेपी का सियासी गणित न बिगड़ने पाएं, ऐसे में देखने को वाली बात यह होगी कि क्या योगी अमित शाह के इस आदेश का पालन कर पाते हैं या फिर यूपी में बीजेपी के सियासी गणित को सुधारने के लिए अमित शाह को ही काम पर लगना पड़ेगा। यूपी में सहयोगी पार्टियां भी बीजेपी से नाखुश चल रही है, जिसकी वजह से अमित शाह काफी टेंशन में दिखाई दे रहे हैं।

अमित शाह ने योगी सरकार से कहा कि वो सहयोगी पार्टी सुहेलदेव औऱ अपना दल के बीच तालमेल बिठाने का काम करें,ताकि चुनाव में बीजेपी को किसी भी तरह का काई नुकसान न हो। बताते चलें कि अमित शाह ने आगे कहा कि वो जल्दी ही एक बार फिर से यूपी का दौरा करेंगे, ऐसे में तब तक सरकार अपनी साख को सुधार लें। साथ ही शाह ने कहा कि सरकार प्रदेश के हित में काम करे लेकिन सहयोगियों को भी साथ लेकर।

शाह ने सख्त तेवर के साथ यूपी बीजेपी को कड़ी हिदायत दी। जी हां, अमित शाह ने कहा कि सरकार और संगठन एकजुट होकर काम करें। इसके अलावा शाह ने कहा कि वो कुछ मंत्रियों के कामकाज से बिल्कुल खुश नहीं है, ऐसे में वो जल्दी ही सरकार और जनता के हित में काम करें। साथ ही शाह ने योगी से कहा कि वो जल्द ही यूपी आएंगे, उस दौरान तक यूपी बीजेपी में सबकुछ ठीक होना चाहिए, वरना पार्टी किसी भी बड़े एक्शन को लेने के लिए मजबूर हो सकती है। गौरतलब है कि इन दिनों योगी सरकार गैंगरेप मामले में चौतरफा घिरी हुई है, जिसकी वजह से उसकी छवि डाउन हो रही है।