कॉमनवेल्थ में गोल्ड जितने वाली यह खुबसूरत चैंपियन है डॉक्टर, अपने ही कोच से की थी शादी

पटियाला: आपको यह बताने की जरुरत नहीं है कि कॉमनवेल्थ गेम्स चल रहे हैं और भारत लगातार अपने शानदार प्रदर्शन से भारत का सर गर्व से ऊँचा कर रहा है। भारत गोल्ड जीतकर दुनिया के सामने अपनी प्रतिभा का लोहा भी मनवा रहा है। खेल के मामले में भारत के कुछ राज्य बहुत ज्यादा प्रसिद्द हैं। इन्ही में से एक है पंजाब। पंजाब देश में सबसे ज्यादा खिलाड़ी देने के लिए भी मशहूर है। आपको जानकर हैरानी होगी कि पंजाब ने ना केवल देश को पुरुष खिलाड़ी दिए हैं बल्कि महिला खिलाड़ी भी दिए हैं।

पंजाब की शान कही जाने वाली हिना सिद्धू ने कॉमनवेल्थ के अपने दूसरे इवेंट में 35 मीटर एयर पिस्टल में गोल्ड मेडल जीता। हिना के पिता राजवीर ने बताया कि उन्हें पूरा यकीन था कि दूसरे इवेंट में उनकी बेटी गोल्ड जरुर जीतेगी। आपकी जानकारी के लिए बता दें पहले इवेंट में हिना केवल 0.1 पॉइंट से ही पीछे रह गयी थीं और 10 मीटर एयर पिस्टल प्रतियोगिता में सिल्वर मेडल जीता था। आपको बता दें हिना की इस सफलता के पीछे उन्हें पति रौनक पंडित का भी हाथ है।

आपको बता दें रौनक पंडित पहले हिना के कोच हुआ करते थे।लेकिन ५साल पहले हिना ने कोच रौनक से ही शादी कर ली थी। रौनक इंटरनेशनल शूटर हैं। हिना के पिता भी नेशनल शूटर रह चुके हैं। केवल यही नहीं हिना के चाचा ही उने बंदूकों को ठीक करने का काम करते हैं। प्रतियोगिता में जैसे ही हिना ने गोल्ड मेडल जीता, ख़ुशी में उन्हें पति और कोच रौनक पंडित ने उन्हें गोद में उठा लिया। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने हिना को गोल्ड मेडल लाने के लिए बधाई दी है। उन्होंने कहा कि वह हिना की हरसंभव मदद करेंगे।

हिना के पिता ने इनके लिया मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह का धन्यवाद किया और कहा कि जल्द ही पंजाब में स्पोर्ट्स पालिसी बने। इस पालिसी का हिना के अलावा अन्य खिलाड़ी भी लाभ उठा पाएंगे। राजवीर सिंह ने बताया कि हिना को बचपन से ही शूटिंग का शौक था, इसी वजह से घर में ही शूटिंग रेंज बना दी थी। इसके बाद एनआईएस में भी प्रैक्टिस की। इसके बाद शूटिंग की ट्रेनिंग लेने के लिए पुणे और मुंबई भी गयी थी। आपको जानकर काफी हैरानी होगी कि दुनिया की नंबर वन शूटर रही हिना सिद्धू ने ज्ञान सागर मेडिकल कॉलेज से बीडी एस की पढ़ाई भी की है।

हिना का पूरा परिवार ही शूटिंग से जुड़ा हुआ है। हिना का भाई करणवीर सिद्धू भी शूटर हैं। पटियाला में पली-बढ़ी हिना कक्षा 12 से ही शूटिंग कर रही हैं। हिना 2012 में लन्दन और 2016 में रिओ-डी-जेनरो ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व कर चुकी हैं। 2008 में इन्होने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भारत का प्रतिनिधित्व किया था। अंजलि भागवत के बाद 2010 में शूटिंग में गोल्ड मेडल लाने वाली हिना पहली महिला शूटर हैं। 2013 में विश्वकप निशानेबाजी प्रतियोगिता में गोल्ड मेडल पाकर वह दुनिया की नंबर वन शूटर बन गयी थीं।