ब्रेकिंग न्यूज़

उन्नाव मामला: बीजेपी विधायक को पुलिस ने किया अरेस्ट, पीड़िता के पिता की थाने में हुई थी मौत

बीते दिनों से यूपी की योगी सरकार आलोचनाओं में घिरी हुई है। जी हां, यूपी सरकार पर कार्रवाई न करने का आरोप लगाया गया है। गैंगरेप मामले में एक युवती ने बीजेपी विधायक पर आरोप लगाया है। न्याय की गुहार लगा रही पीड़िता को जब इंसाफ की आस नजर नहीं आई तो उसने सीएम आवास के सामने आत्मदाह की कोशिश की तो उसके पिता को फर्जी केस में थाने में बंद कर दिया गया, जहां उनकी मौत हो गई, ऐसे में पीड़ित परिवार का आरोप है कि बीजेपी विधायक के इशारों पर ही उसके पिता की हत्या की गई है, ऐसे में अब उन्हें फांसी की सजा हो। आइये जानते हैं कि हमारे इस रिपोर्ट में क्या खास है?

उन्नाव गैंगरेप का आरोपी बीजेपी विधायक है, ऐसे में पीड़ित परिवार का आरोप है कि सरकार औऱ कानून अपने विधायक को बचाने की कोशिश में उसके पिता पर फर्जी केस चलाया, जहां उनकी मौत हो गई, ऐसे में पीड़िता का कहना है कि बीजेपी विधायक ही उसके पिता को मारा है, जिस पर सरकार को एक्शन लेना चाहिए। बताते चलें कि मामले में विधायक को नहीं, उसके भाई को पुलिस ने गिरफ्तार किया है, लेकिन आरोपी विधायक अभी भी पुलिस गिरफ्त से बाहर है।

बताते चलें कि जहां एक तरफ यूपी की ये बेटी इंसाफ की गुहार लगाती फिर रही है, तो वहीं दूसरी तरफ सरकार अभी तक सो रही थी, ऐसे में अब योगी सरकार नींद से जागी है, जिसके बाद योगी ने मामले में सख्त कार्रवाई करने के आदेश दिये हैं, लेकिन सीएम के आदेश के बावजूद यूपी पुलिस विधायक कुलदीप सिंह को गिरफ्तार नहीं कर पाई है। ऐसे में पीड़ित परिवार का गुस्सा और भी बढ़ता जा रहा है, क्योंकि जहां एक तरफ उनकी बेटी के साथ जघन्य अपराध हुआ है, तो वहीं उनके घर के मुखिया की थाने में मौत हो गई है, जोकि पुलिस व्यवस्था को सीधे सीधे कठघऱे में खड़ा करती है।

पीड़िता को इंसाफ न मिलने पर विपक्ष लगातार बीजेपी पर हमलावर हो रही है। जी हां, अखिलेश यादव ने यूपी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि जो बेटी बचाओं का नारा देते है, वहीं बेटियों को मार रहे हैं। साथ ही अखिलेश यादव ने आगे कहा कि एनकाउंटर के नाम पर अपराधियों को डराने वाली योगी सरकार खुद ही अपराधियों को पाल रही है। बताते चलें कि अभी इस मामले में सिर्फ आरोपी विधायक के भाई और उसके चार साथियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

Related Articles

Close